अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रंग मिला कर बेच रहे थे शाही टुकड़ा, 20 हजार लगा जुर्माना

शाही टुकड़े में जाफरान के स्थान पर रंग मिला कर ग्राहकों के विश्वास और सेहत से खिलवाड़ करने वाले होटल पर एडीएम कोर्ट ने 20 हजार रुपए का जुर्माना ठोका है। इसके साथ पैकिंग नियमों का उल्लंघन करने और बिना लाइसेंस चिकन-मटन बेचने वालो पर भी 25 व 20 हजार का जुर्माना लगाया गया है। इन तीनों मामलों में दोषी दुकानदारों को एक माह का समय दिया गया है। इस दौरान अगर जुर्मान अदा नहीं करते हैं तो भू-राजस्व बकाए की तरह वसूली की जाएगी।

एडीएम (पूर्वी )जितेंद्र मोहन सिंह की कोर्ट में सोमवार को तीन मामलों में निर्णय आए। तीनों दुकानदार खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 के तहत दोषी करार दिए गए। डीओ टीआर रावत ने बताया कि बीएन रोड स्थित होटल दस्तर खान से 17 जुलाई 2017 को शाही टुकड़ा का नमूना लिया गया था। जांच में शाही टुकड़ा में रंग मिला पाया गया। जबकि शाही टुकड़ा में रंग जाफरान से आता है। इस वजह से यह मानक के अनुरूप नहीं पाया गया। विक्रेता ए.के. सेठ और गोलागंज निवासी मालिक फैजल अलफीन के ख़िलाफ दाखिल मुकदमें में एडीएम ने 20 हजार का जुर्मान ठोका है।

जबकि दूसरे मामले में निशातगंज, प्रेम बाजार स्थित राम प्रोविजन स्टोर के संचालक सुशील कुमार अग्रवाल पर 25 हजार का जुर्माना लगाया गया। सेव की पैकेट पर पैकिंग नियमों का उल्लंघन पाए जाने पर 25 हजार जुर्माना लगाया गया। वहीं बिना लाइसेंस चिकन व मटन की दुकान चलाने वाले इंसाफ नगर, पानी गांव निवासी मोहम्मद फिरोज व अब्दुल सलाम पर 20 हजार रुपए अर्थ दंड लगाया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:fsda