fraud case - रेलवे में नौकरी व पार्टनरशिप का झांसा देकर दंपति को ठगा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेलवे में नौकरी व पार्टनरशिप का झांसा देकर दंपति को ठगा

default image

- आरोपी ने खुद को राजभवन का अफसर बताकर जाल में फंसाया - 11.70 लाख रुपये हड़पे, पीड़िता ने महानगर थाने में दर्ज कराया केस लखनऊ। वरिष्ठ संवाददाता रेलवे में नौकरी और ट्रांसपोर्ट के कारोबार में पार्टनशिप का झांसा देकर जालसाज ने दरोगा व उनकी पत्नी से 11.70 लाख रुपये हड़प लिए। पीड़िता का कहना है कि आरोपी खुद को राजभवन में तैनात अफसर बताकर गनर के साथ नीली बत्ती गाड़ी में घूमता था। इससे वह लोग आसानी से उसके बहकावे में आ गए। ठगी का अहसास होने पर पीड़िता ने आरोपी के खिलाफ महानगर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई है। गाजियाबाद के गोविंदपुरम निवासी रीना सिंह के पति एचसीपी मधुसूदन सिंह लखीमपुर खीरी में ट्रैफिक पुलिस में तैनात हैं। पत्नी रीना सिंह का कहना है कि लखनऊ में तैनाती के दौरान उनके पति की महानगर निवासी चन्द्रपाल सिंह से दोस्ती हो गई थी। चन्द्रपाल खुद को राजभवन के मीडिया सेल में तैनात अधिकारी बताता था। इसके अलावा उसका ट्रांसपोर्ट का काम था। रीना का कहना है कि वर्ष 2017 में चन्द्रपाल ने उनकी बेटी की रेलवे में नौकरी लगवाने का आश्वासन दिया। उनके हामी भरने पर चन्द्रपाल ने आवेदन फार्म भरवाकर 4.60 लाख रुपये ले लिए। कुछ दिनों बाद चन्द्रपाल ने उन्हें ट्रांसपोर्ट के अपने कारोबार में पार्टनर बनाने का झांसा देकर 7.10 लाख रुपये ऐंठ लिए। लेकिन, दो साल बीतने के बाद भी न तो उसने बेटी की नौकरी लगवाई और न ही व्यवसाय में साझेदार बनाया। रीना का कहना है कि चन्द्रपाल ने उनसे कुछ सादे कागज पर साइन भी लिए थे। अब रुपये वापस मांगने पर वह उन्हें धमका रहा है। इस पर रीना ने एसएसपी कलानिधि नैथानी से मिलकर मामले की शिकायत की। एसएसपी के आदेश पर महानगर पुलिस ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:fraud case