DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुम्भ के लिए नीति आयोग से और धन मांगेगी राज्य सरकार

राज्य मुख्यालय। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुम्भ-2019 के लिए नीति आयोग से अतिरिक्त धनराशि मांगने के प्रयास करने को कहा है। उ‌न्होने कहा है कि प्रदेश में प्राकृतिक, धार्मिक, आध्यात्मिक दृष्टि से पर्यटन विकास के पर्याप्त अवसर हैं इसका लाभ उठाया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने यह निर्देश गुरुवार को केन्द्रीय पर्यटन सचिव सुश्री रश्मि वर्मा के साथ हुई बैठक में दिए।

उ‌न्होंने पर्यटन विकास के लिए स्वीकृत योजनाओं का तेजी से क्रियान्वयन करने के निर्देश दिए केन्द्र सरकार द्वारा प्रदेश के पर्यटन विकास के लिए स्वीकृत योजनाओं का तेजी से क्रियान्वयन किया जाए। निर्माण कार्य को शीघ्रता से पूरा किया जाए और कार्य में रुचि न लेने वाली निर्माण एजेन्सियों के विरूद्ध कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि यूपी पर्यटन की दृष्टि से देश का सर्वाधिक सम्भावनाओं वाला राज्य है। काशी, अयोध्या, मथुरा, नैमिषारण्य, विंध्याचल, शुक्रताल, दुधवा आदि का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि यहां पर प्राकृतिक, धार्मिक, आध्यात्मिक दृष्टि से पर्यटन विकास के पर्याप्त अवसर हैं। उन्होंने केन्द्रीय पर्यटन सचिव से गोरखपुर, नैमिषारण्य एवं गोवर्धन तीर्थ (मथुरा) आदि के लिए केन्द्र सरकार को पूर्व में प्रेषित प्रस्तावों के सापेक्ष धनराशि स्वीकृत करने का भी अनुरोध किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुम्भ-2019 के लिए अभी से कार्य योजना बनाकर कार्य करने पर बड़ी संख्या में पर्यटकों को इस आयोजन के लिए आकर्षित किया जा सकता है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे कुम्भ के लिए अतिरिक्त धनराशि नीति आयोग से प्राप्त करने के प्रयास करें। साथ ही समस्त देशों के राजदूतों व उच्चायुक्तों को कुम्भ में आमंत्रित करने के भी निर्देश दिए और कहा कि उन्हें कुम्भ के महत्व से परिचित कराने वाली फिल्में दिखाई जाए।

उन्होंने कहा कि प्रयागराज के संगम तट स्थित किले को खाली कराने के लिए रक्षा मंत्री को पत्र भेजा जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में वन्यजीव पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए दुधवा नेशनल पार्क के लिए कनेक्टिविटी की सुविधा दिलाने तथा वहां पर्यटकों के लिए बेहतर आवासीय सुविधा मुहैय्या कराने के भी निर्देश दिए। उपलब्ध करायी जाए।

केन्द्रीय पर्यटन सचिव ने प्रयाग कुम्भ की इन्टरनेशनल ब्राण्डिंग हेतु कुम्भ के ‘लोगो को अंग्रेजी भाषा में भी तैयार किये जाने का सुझाव दिया। मुख्यमंत्री जी ने इसे स्वीकार करते हुए ‘लोगो अंग्रेजी भाषा में तैयार करने के निर्देश दिए, ताकि अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर कुम्भ-2019 का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा सके।

पर्यटन मंत्री श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी ने मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया कि प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हैलीकाॅफ्टर द्वारा जाॅय राइड की व्यवस्था की जा रही है। वाराणसी, आगरा, गोरखपुर, मथुरा, लखनऊ, नैमिषारण्य, इलाहाबाद, कुशीनगर आदि स्थलों के लिए कुल 11 प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं।

इस अवसर पर ग्रामीण विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ0 महेन्द्र सिंह, पंचायतीराज राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री भूपेन्द्र सिंह चैधरी, प्रमुख सचिव पर्यटन श्री अवनीश कुमार अवस्थी सहित केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय तथा प्रदेश के पर्यटन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:for kumbh mela state govt demand more fund from niti aayog