DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साक्षी पहुंची कैम्प में, फोगाट बहनों को बताना होगा जायज कारण

 Women, wrestling, camp, wrestler, case

साई सेंटर में लगे सीनियर महिला कुश्ती राष्ट्रीय कैम्प से नदारत पहलवानों का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। भारतीय कुश्ती महासंघ ने साफ कह दिया है कि जिन पहलवानों पर अनुशानहीनता के कारण कार्रवाई की गई है उन्हें जायज कारण बताना होगा कि वे कैम्प में क्यों नहीं पहुंची हैं। उधर, 20 मई तक गर्दन की चोट के कारण कैम्प से छुट्टी लेने वाली ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक गुरुवार को लखनऊ पहुंच गई हैं। वहीं फोगाट बहनें गीता, बबिता, रितु व संगीता समेत करीब 13 पहलवानों की सूचना अब तक कैम्प में नहीं है।
एशियाई खेल व विश्व चैंपियनशिप को ध्यान में रखते हुए सीनियर महिला पहलवानों का कैम्प 10 मई से साई सेंटर लखनऊ में शुरू होना था। पर पहलवानों के न पहुंचने के कारण यह कैम्प अपनी निर्धारित तारीख से नहीं शुरू हो सका। यह 13 मई से आधी-अधूरी पहलवानों के साथ शुरू हुआ। देश भर से चुनी गई 53 में करीब 15 पहलवानों के कैम्प में न पहुंचने का कारण चीफ कोच कुलदीप मलिक को नहीं पता चला। 
उन्होंने बुधवार को इन पहलवानों के कैम्प न पहुंचने की सूचना भारतीय कुश्ती महासंघ को भेजी। महासंघ ने इसे गंभीरता से लिया और फोगाट बहनों समेत 13 पहलवानों को कैम्प से बाहर कर दिया है। इन पहलवानों का अगले माह एशियाई खेल के लिए होने वाले ट्रायल में हिस्सा लेना बेहद मुश्किल नजर आ रहा है।
भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय शिविर के लिये चुने गए पहलवानों को तीन दिन के अंदर रिपोर्ट करना होता है। अगर कोई दिक्कत होती है तो खिलाड़ी को अपने कोचों को बताना होता है ताकि दिक्कत का हल निकाला जा सके।
वहीं कैम्प में गीता व बबिता की चचेरी बहन विनेश तो यहां आठ मई को ही पहुंच गई थीं। साक्षी मलिक भी गुरुवार को यहां पहुंच चुकी हैं। उधर, चीफ कोच कुलदीप मलिक ने बताया कि उनकी महासंघ को सौंपी गई रिपोर्ट रुटीन का हिस्सा है। कैम्प शुरू होने के दो-तीन दिन बाद चीफ कोच को रिपोर्ट करनी होती है कि कैम्प में कौन-कौन पहुंचा और कौन-कौन नहीं। इस पर महासंघ क्या कार्रवाई करता है यह उस पर निर्भर करता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:fogat sisters will be told reasons