DA Image
25 फरवरी, 2020|9:08|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्यपाल ने देखी आलू की नई तकनीक, किसानों को किया सम्मानित

 governor  potato  technology

1 / 2राज्यपाल ने देखी आलू की नई तकनीक, किसानों को किया सम्मानित

governor  potato  technology

2 / 2राज्यपाल ने देखी आलू की नई तकनीक, किसानों को किया सम्मानित

PreviousNext

राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल ने पद्म श्री रामसरन वर्मा के हाईटेक कृषि फार्म पर आकर नई तकनीक से आलू के  उत्पादन को खेत में जाकर देखा। उन्होंने कहा कि गुजरात मॉडल की तरह उत्तर प्रदेश में भी किसानों का उत्पादन सीधे जनता तक पहुंचाने का प्रयास किया जाना चाहिए। राज्यपाल के साथ आए केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री पुरुषोत्तम रुपाला ने कहा कि जल्द ही ट्रेनों में किसानों के लिए अलग से एसी कोच लगेंगे जिसमें वह अपने फल, फूल, सब्जी को पूरे देश में पहुंचाएंगे।
शनिवार को निर्धारित समय पर राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल हेलीकाप्टर से लखनऊ से सीधे पद्म श्री रामसरन वर्मा के हरख ब्लाक के दौलतपुर गांव पहुंचीं। वहां उन्होंने पहले एक चौड़ी मेड़ पर आलू की तीन लाइनों में लगी नई तकनीक से हुए उत्पादन को देखा। 
रामसरन ने बताया कि इस तकनीक से एक एकड़ में डेढ़ सौ कुंतल के स्थान पर तीन सौ कुंतल आलू का उत्पादन होगा। अपने सम्बोधन में राज्यपाल ने कहा कि गुजरात में शनिवार व रविवार को विभिन्न शहरों में एक मण्डी लगाई जाती थी। जिसकी जानकारी आम लोगों को होती थी। इस मण्डी में किसान अपना उत्पाद लेकर पहुंचता और उसकी बिक्री करता है। इसी तर्ज पर यूपी में भी किसानों का उत्पाद सीधे जनता खरीदे इसका प्रयास किया जाना चाहिए। 
केन्द्रीय राज्यमंत्री पुरुषोत्तम रुपाला ने अपने सम्बोधन में कहा कि कृषि मंत्री खेत तक आए इससे बढ़िया मौका और कोई नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि केसीसी के तहत सभी किसानों को ऋण देने की प्रधानमंत्री की योजना को सभी तक पहुंचाने के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधि भी आगे आएं। इस मौके पर इफ्को के एमडी उदय भान अवस्थी ने कहा कि खेतों में कैमिकल कम जाए इसलिए इफ्को ने नैनो नाइट्रोजन, नैनो जिंक व नैनो कापर बनाया है। इसका प्रयोग 11 हजार किसानों के खेतों में चल रहा है।
समारोह के दौरान विभिन्न क्षेत्रों के किसानों में संजय कुमार, सुरेन्द्र रावत, संतोष सिंह, पंकज कुमार, राजेन्द्र कुमार, धीरेन्द्र कुमार, आनन्द कुमार वर्मा, हरिहर सागर के साथ दो महिला किसान अमेठी की श्रीमती रीता व श्रीमती कमलेश को राज्यपाल ने शाल पहनाकर व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।