DA Image
27 जनवरी, 2020|9:15|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैबिनेट------ वाराणसी नगर निगम सीमा का विस्तार, शामिल हुए 79 गांव

default image

प्रमुख संवाददाता- राज्य मुख्यालय

राज्य सरकार ने श्री काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के धार्मिक महत्व को ध्यान में रखते हुए वाराणसी नगर निगम सीमा का दायरा बढ़ाने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में वाराणसी नगर निगम सीमा में 79 नए गांवों को शामिल करने का फैसला किया है। इन गांवों के शामिल होने के बाद वाराणसी नगर निगम का क्षेत्रफल बढ़कर 8621.691 हेक्टेयर हो जाएगा।

सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने बताया कि वाराणसी नगर निगम का क्षेत्रफल मौजूदा समय 7971 हेक्टेयर है। सीमा विस्तार में 79 गांवों के शामिल होने से कुल क्षेत्रफल 8621.691 हेक्टेयर होगा। यह वर्तमान नगर निगम क्षेत्रफल का लगभग 108 प्रतिशत है। इन गांवों के शामिल होने से वाराणसी जिले की 68 ग्राम पंचायतों का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा।

उन्होंने बताया कि वाराणसी के मंडलायुक्त ने 5 अगस्त 2016 को यह प्रस्ताव उपलब्ध कराया था। इसके आधार पर 77 गांवों का संपूर्ण क्षेत्रफल और दो गांवों का आंशिक क्षेत्रफल शामिल किया जा रहा है। इन गांवों के शामिल होने के बाद वाराणसी नगर निगम का क्षेत्रफल 8621.691 हेक्टेयर क्षेत्रफल हो जाएगा। उन्होंने बताया कि नगर निगम वाराणसी की सीमा के निकटवर्ती गांवों में शहरीकरण की बढ़ती प्रवृत्ति और उसमें हो रहे अनियोजित विकास को नियोजित करने के उद्देश्य से यह फैसला किया गया है। इससे अवस्थापना सुविधाओं को और बेहतर बनाने का काम होगा।

शामिल होने वाले गांव

भगवानपुर, डाफी आंशिक, छित्तुपुरा, सुसुवाही, चितईपुर, अवलेशपुर, करौदी, सीरगोवर्द्धनपुर, नासिरपुर, नुआंव, कंदवा, पोगलपुर, चुरामनपुर, मड़ौली, ककरमत्ता, जलालीपट्टी, पहाड़ी, गणेशपुर, कंचनपुर है। भिखारीपुरकला, भिखारीपुरखुर्द, चांदपुर आंशिक, महेशपुर, शिवदासपुर, तुलसीपुर, मण्डुआडीह, लहरतारा, फुलवरिया, बड़ागांव, नाथूपुर, तरना, गणेशपुर (शिवपुर) है। हटिया, छतरीपुर, चुप्पेपुर, होलापुर, परमानंदपुर, लोढ़ान, बासदेवपुर, अहमदपुर, हरिहरपुर, सरसवां, कानूडीह, दादूपुर, ऐढ़े, हरबल्लभपुर, बनवारीपुर, लमही, मढ़वां है।

इसी तरह रसूलपुर, सोयेपुर, रमदत्तपुर, गोइठहां, रजनहियां, हृदयपुर, हसनपुर, सिंहपुर, मुगदरपुर, खजुहीं, फरीदपुर, बकसड़ा, खरगपुर है। मझमिठियां, संदहा, हिरामनपुर, रूस्तमपुर, तिलमापुर, आशापुर, लेढूपुर, रसूलगढ़, रघुनाथपुर, दीनापुर, सलारपुर, खालिसपुर, कोटवां, सरायमोहाना, डोमरी, सूजाबाद और हासिमपुर गांव है।

धार्मिक महत्व के साथ प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र भी

वाराणसी का अपना धार्मिक महत्व है। काशी विश्वनाथ मंदिर को श्री काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के रूप में विकसित किया जा रहा है। यहां देश-विदेश के काफी संख्या में श्रद्धालुओं का आना-जाना बना रहता है। इसीलिए वाराणसी का दायरा बढ़ाने का फैसला हुआ है। इसके साथ वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र भी है। राजनीतिक दृष्टि से भी वाराणसी काफी महत्वपूर्ण माना जाता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Extension of Varanasi Municipal Corporation limits 79 villages joined