DA Image
26 फरवरी, 2021|6:37|IST

अगली स्टोरी

15 माह से कर्मचारियों के खाते में जमा नहीं किया ईपीएफ

कर्मचारियों के भविष्य का सहारा ईपीएफ को कटा तो लिया गया लेकिन कर्मचारियों के ईपीएफ खाते में जमा नहीं किया। अप्रैल 2018 से लेकर जुलाई माह तक ब्लाक ने पैसा जमा करने की सुध नहीं ली है। इस लापरवाही के कारण राजधानी के आठो ब्लाकों में तैनात कर्मचारियों का बीते 15 माह के ब्याज का बड़ा नुकसान हो चुका है।

मनरेगा योजना में तैनात कर्मचारियों की ईपीएफ की कटौती बीते 15 माह से हो रही है। इस कटौती में नियोक्ता के अंश मिलाकर कर्मचारियों के ईपीएफ खाते में पैसा जमा किया जाना था। राजधानी के सभी ब्लाकों में तैनात लेखाकारों की लापरवाही की वजह से ईपीएफ का पैसा खातों में जमा ही नहीं हुआ। इधर जब कर्मचारियों को यह बात पता चली तो उन्होंने सीडीओ से शिकायत की। जांच में मामले का खुलासा हो गया। इसे देखते हुए सीडीओ मनीष बंसल ने सभी ब्लाकों के लेखाकारों का वेतन रोक दिया है। साथ ही चेतावनी दी है कि एक सप्ताह में पैसे अगर कर्मचारियों के ईपीएफ खातों में जमा नहीं हुआ तो वित्तीय अनियमित्ता के तहत कार्रवाई होगी।