अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वेतन न देने पर वित्त लेखा कार्यालय के विरुद्ध मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश 

Salary, finance, accounting, investigation

समय से वेतन न मिलने सहित अन्य शिक्षक समस्याओं से आजिज आ चुके उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष अशोक सिंह व जिला मंत्री विनय तिवारी के नेतृत्व में पदाधिकारियों ने वित्त एवं लेखाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन कर जिलाधिकारी को संबोधित मांग पत्र एडीएम को सौंपकर जांच की मांग की। मामले की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए गए हैं।
उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला मंत्री विनय तिवारी ने बताया कि विगत कई माह से नियमित वेतन का समय से भुगतान नहीं किया जा रहा है और जान-बूझकर शिक्षकों के वेतन भुगतान में हीलाहवाली की जा रही है। वित्त एवं लेखाधिकारी व उनके कार्यालय के लोग अपनी जिम्मेदारियों से बचने के लिए समय से वेतन भुगतान न होने का सारा दोष खंड शिक्षा अधिकारियों पर डाल रहे हैं। खंड शिक्षा अधिकारी बिना बीएसए के आदेश के ही शिक्षकों का उत्पीड़न करने की नियत से अपने स्तर से ही अकारण शिक्षकों का वेतन घटाया करते हैं और इस कार्य में वित्त लेखाधिकारी कार्यालय के भी कुछ कर्मी संलिप्त रहते हैं। 
शिक्षकों को वेतन व अन्य देयक ससमय भुगतान कराने के लिए सरकार द्वारा स्थापित किया गया लेखाधिकारी कार्यालय अपने मूल उद्देश्य से भटक चुका है जिससे शिक्षकों को अन्य देयकों की बात तो दूर समय से नियमित वेतन भी प्राप्त नहीं होता है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:enquiry orders