DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी : ऊर्जा मंत्री ने झांसी में रिश्वत मांगने वाले अभियंताओं पर की बड़ी कार्रवाई

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने झांसी भ्रमण के दौरान उपभोक्ता से रिश्वत मांगने की शिकायत को सही मिलने पर बड़ी कार्रवाई की है। झांसी के मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता को मुख्यालय से संबद्ध कर  उपखंड अधिकारी और अवर अभियंता को निलंबित कर दिया गया है। नगरीय क्षेत्र के अधिशासी अभियंता को कठोर चेतावनी के साथ एक संविदाकर्मी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं।

प्रमुख सचिव ऊर्जा व पावर कार्पोरेशन के अध्यक्ष आलोक कुमार ने बताया कि ऊर्जा मंत्री ने रविवार को झांसी शहर के सीपरी विद्युत उपकेंद्र का औचक निरीक्षण कर नए कनेक्शन की फाइलों का परीक्षण किया। इसमें एक उपभोक्ता से ऊर्जा मंत्री ने सीधी बात की और पाया कि उसको कनेक्शन देने के नाम पर रिश्वत मांगी जा रही है। पैसा न देने की वजह से कनेक्शन लगभग डेढ़ माह से लटका हुआ है।

ऊर्जा मंत्री ने इसकी जांच करने के निर्देश दिए। इसमें उपभोक्ता की शिकायत सही मिली। उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा कि झांसी में मुख्य अभियंता से लेकर अवर अभियंता तक के अधिकारी तैनात होने के बाद भी बीपीएल संयोजन निर्गत करने में एक सप्ताह से अधिक का समय लग रहा है। उक्त प्रकरण में कर्तव्यों के प्रति लापरवाही करने तथा समय-समय पर अनुश्रवण न करने एवं उपभोक्ताओं का उत्पीड़न करना पाया गया। इन लापरवाह अधिकारियों पर तत्काल कार्रवाई के लिए निर्देश दिए गए। निर्देशित किया गया है कि भविष्य में ऊर्जा मंत्री द्वारा इसी प्रकार औचक निरीक्षण कर अनियमितता पर इससे भी कठोर कार्रवाई की जाएगी।

इन पर हुई कार्रवाई : 
इस प्रकरण में प्रबंध निदेशक एसके वर्मा द्वारा जांच कराई गई, जिसमें प्रथम दृष्टया आरोपों को सही पाया गया। जिस पर तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए गए। प्रबंध निदेशक द्वारा तत्काल कार्रवाई करते हुए झांसी के मुख्य अभियंता सहदेव सिंह गोयल व नगरीय क्षेत्र के अधीक्षण अभियंता राकेश वर्मा को आगरा मुख्यालय से संबद्ध कर दिया गया। नगरीय क्षेत्र के अधिशासी अभियंता अनुभव कुमार को भविष्य में इस प्रकार की पुनरावृत्ति न होने की कठोर चेतावनी दी गई। उपखंड अधिकारी चंद्रेश सिंह तोमर व अवर अभियंता हरिओम कुशवाहा को निलंबित कर दिया गया। मामले में प्रत्यक्ष दोषी संविदाकर्मी चंद्रप्रकाश के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। 

लटके मामलों में दो दिन में कनेक्शन दें :
ऊर्जा मंत्री ने यह भी निर्देश दिया है कि नए कनेक्शन के जितने मामले महीनों से लटके हैं, उसे दो दिन में कनेक्शन दिए जाएं। प्रमुख सचिव ऊर्जा ने प्रदेश भर के सभी विद्युत अधिकारियों को निर्देशित किया है कि कहीं भी इस तरह की शिकायत सही मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा है कि उपभोक्ताओं को विद्युत कनेक्शन तत्काल स्वीकृत किए जाएं। यह भी निर्देश दिए गए हैं कि उपकेन्द्रों पर सभी जरूरी कागजात ठीक से रखे जाएं और वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा उपकेंद्रों का नियमित निरीक्षण किया जाए।


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Energy Ministers big action on engineers seeking bribe in Jhansi