DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विश्व महिला दिवस पर 195 महिलाएं बनीं स्वावलंबी

- सूर्या इंस्टीट़्यूट में त्रिदिवसीय वृहद रोजगार मेले की शुरुआत

- आज से रोजगार मेले में पुरुष अभ्यर्थी भी होंगे शामिल

नारी शक्ति आज देश की शक्ति के रूप में उभर कर सामने आ रही है। अगर, महिलाओं को अधिकार और उनकी शक्ति की सही पहचान कराकर देश के सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक रूप में शामिल किया जायें, तो यकीनन देश तरक्की की सीढ़ियां चढ़ने लगेगा। यह बातें गुरुवार को महिला कल्याण एवं पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कही।

मंत्री रीता बहुगुणा जोशी सूर्या ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स में मॉडल कॅरियर सेन्टर व प्रशिक्षण एवं सेवायोजन निदेशालय की ओर से आयोजित त्रिदिवसीय 'वृहद रोजगार मेले' को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस महिला सशक्तीकरण व बेहतर समाज के निर्माण में उनके योगदान के लिए मनाया जाता है। आज भारतीय नारी अनेक क्षेत्रों में अपना परचम लहरा रही है। शिक्षा, संस्कृति, कला, विज्ञान, सम्पदा, कार्पोरेट, मीडिया, रक्षा आदि सभी क्षेत्रों में अपना वर्चस्व सिद्ध कर रही हैं।

मेले की अध्यक्षता श्रम सेवायोजन एवं समन्वय मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने की। इस मौके पर विशिष्ट अतिथि के रूप में सांसद जगदम्बिका पाल तथा प्रशिक्षण एवं सेवायोजन निदेशक राजेन्द्र प्रसाद उपस्थित थे।

रोजगार मेले में लखनऊ, फैजाबाद व कानपुर मण्डलों के सभी जिलों से बेरोजगार महिला अभ्यर्थियों ने प्रतिभाग किया। मेले के शुरुआती दिन 21 नियोजक पहुंचे। मौके पर कुल 1619 महिला अभ्यर्थी साक्षात्कार में शामिल हुईं। इनमें से कुल 195 महिला अभ्यर्थियों का चयन हुआ।

कार्यक्रम का संचालन सेवायोजन अधिकारी देवव्रत कुमार ने किया। इस मौके पर सेवायोजन विभाग के उप निदेशक राजीव कुमार यादव, पीके पुण्डीर, सहायक निदेशक आरसी श्रीवास्तव, सूर्या इंस्टीट्यूशन्स के निदेशक प्रो. जावेद अहमद मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Employment Fare