DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव के लिए मतदान स्थल संशोधन के मांगे प्रस्ताव

एक जून से बीएलओ घर-घर जा कर मतदाता सूची का करेंगे सत्यापन

राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ जिला प्रशासन की बैठक

चुनाव आयोग लोकसभा के लिए तैयारी शुरू कर चुका है। जिला प्रशासन ने चुनाव के लिए कमर कस ली है। बुधवार को मतदान स्थल संशोधन के लिए राजनीतिक दलों से प्रस्ताव मांगे गए। कलेक्ट्रेट के डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम सभागार में आयोजित बैठक में भाजपा, कांग्रेस, सपा और बसपा समेत सभी प्रमुख राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

इस बैठक में डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि एक जून से मतदाता सूची में नाम जुड़वाने का अभियान चलेगा। बीएलओ घर घर जा कर सूची का सत्यापन करेंगे। यह संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान एक जून से शुरू हो कर 30 तक चलेगा। डीएम ने बैठक में आए राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से कहा कि मतदान स्थलों के संबंध में यदि कोई संशोधन का प्रस्ताव हो तो वह अभी उपलब्ध करा दें। इसके बाद उसकी जांच कराने के बाद 14 जून को इस संबंध में होने जा रही अगली बैठक में निर्णय लिया जाएगा।

वोटर लिस्ट सही रखने में राजनीतिक दल करेंगे मदद

वोटर लिस्ट (मतदाता सूची) में कोई कमी न रहे इसके लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। राजनीतिक दलों के नेताओं से अपील की गई है कि वे अपने दल के बूथ स्तरीय एजेंटों की तैनाती करें। इससे विधान सभा निर्वाचन नामावलियों में छूटे हुए नागरिकों से फार्म-6 भरवा कर उनका नाम जोड़ा जा सके। साथ ही स्वर्ग सिधार चुके और दूसरे जिले या राज्य में जाने वाले मतदाताओं के नाम काटे जा सकें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:election