DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्जी मार्कशीट कांड में लूटा ने की सीबीआई जांच की मांग

कुलपति ने कहा फीस नहीं जमा करने वाले छात्रों को परीक्षा से न रोका जाएलखनऊ। कार्यालय संवाददातालखनऊ विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए अच्छी खबर है। सेमेस्टर परीक्षा से पहले फीस जमा नहीं करने वाले छात्रों को अब परीक्षा में शामिल होने से नहीं रोका जाएगा। कुलपति प्रो एसपी सिंह ने इसको लेकर एक आदेश जारी किया है। इसमें कहा गया कि किसी भी छात्र फीस न जमा होने की वजह से परीक्षा देने से न रोका जाए। कुलपति ने निर्देश दिए है कि जिन छात्रों ने फीस जमा नहीं की है। उनसे लेट फीस ली जाए लेकिन परीक्षा देने से न रोका जाए। कुलपति ने छात्रों को फीस जमा करने का एक विशेष मौका देते हुए फीस पोर्टल को एक सप्ताह तक अतिरिक्त खोलने के निर्देश भी दिए है। फर्जी मार्कशीट कांड में लूटा ने की सीबीआई जांच की मांग लखनऊ विश्वविद्यालय में फर्जी मार्कशीट कांड में अब शिक्षकों ने कड़ा रूख अपना लिया है। लखनऊ विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (लूटा) ने फर्जी मार्कशीट कांड में सीबीआई जांच कराए जाने की मांग उठाई है। इसके लिए लूटा के अध्यक्ष डॉ नीरज जैन व महामंत्री डॉ विनीत वर्मा ने कुलपति को पत्र लिख कर रोष जाहिर किया है। डॉ नीरज जैन ने बताया कि एक महीने पहले पुलिस ने विश्वविद्यालय में फर्जी मार्कशीट कांड का भांडा फोड़ किया था। इसमें एक बर्खास्त कर्मचारी समेत कई कर्मचारियों की मिलीभगत सामने आई थी। वहीं, मंगलवार को प्रशासनिक भवन से पीएचडी दस्तावेज गायब किए जाने का मामला सामने आया है। इससे विश्वविद्यालय की साख लगातार खराब हो रही है। लूट अध्यक्ष डॉ नीरज जैन का कहना है कि विश्वविद्यालय की साख बचाने के लिए सीबीआई जांच जरुरी है। सीबीआई जांच में इस रैकेट से जुड़े मास्टर माइंड सामने आ सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:edu