DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  लखनऊ  ›  संपादित: पेज--5--ईद पैकेज--कंटेनमेंट जोन में त्योहार नहीं मनाया जाएगा, कहीं आने-जाने की अनुमति नहीं

लखनऊसंपादित: पेज--5--ईद पैकेज--कंटेनमेंट जोन में त्योहार नहीं मनाया जाएगा, कहीं आने-जाने की अनुमति नहीं

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Newswrap
Thu, 13 May 2021 09:22 PM
संपादित: पेज--5--ईद पैकेज--कंटेनमेंट जोन में त्योहार नहीं मनाया जाएगा, कहीं आने-जाने की अनुमति नहीं

कंटेनमेंट जोन में त्योहार नहीं मनाया जाएगा, कहीं आने-जाने की अनुमति नहीं

लखनऊ प्रमुख संवाददाता

ईद उल फितर के मद्देनजर शांति व्यवस्था बनाए रखने और कोविड दिशा निर्देशों का पालन कराने के लिए गुरुवार को एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित इस बैठक में जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बताया कि जनपद में धारा 144 लगा दी है। शहरी क्षेत्र में पुलिस कमिश्नरेट ने इसे लागू किया है। निर्देश दिया कि कंटेनमेंट जोन में त्योहार नहीं मनाया जाएगा। इस क्षेत्र में रहने वाले किसी व्यक्ति को कहीं जाने की अनुमति नहीं होगी। ऐसा करने पर महामारी अधिनियम के उल्लंघन का दोषी माना जाएगा।

उन्होंने निर्देश दिया कि ग्रामीण क्षेत्रों में पुलिस क्षेत्राधिकारी और एसडीएम सक्रिय रहें। अराजक तत्वों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई करें जिससे कोविड मरीजों को पहुंचाई जा रही मदद पर असर न पड़े। डीएम ने बताया कि कोई भी व्यक्ति जिलाधिकारी या क्षेत्रीय कार्यकारी मजिस्ट्रेट की अनुमति के बिना जुलूस नहीं निकाल सकता। पांच या अधिक लोग एक जगह समूह नहीं बनाएंगे। कोई घेराव या रैली नहीं होगी। दूसरी तरफ विवाह, प्रेक्षागृह के के भीतर सांस्कृतिक या शैक्षिक कार्यक्रमों पर यह व्यवस्था लागू नहीं होगी। इसके लिए शासन से जारी निर्देशों का पालन किया जाएगा।

डीएम के निर्देश-

किसी धार्मिक, सार्वजनिक स्थल या आयोजन में लाउडस्पीकर की ध्वनि तीव्रता के संबंध में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के निर्देश लागू

रात 10 बजे से सुबह 6:00 बजे तक किसी भी ध्वनि विस्तारक यंत्र का प्रयोग नहीं किया जाएगा

राजधानी की सीमा में लाठी, डंडा, तेज धार वाले चाकू, नुकीले शस्त्र, अग्नेयास्त्र, ज्वलनशील पदार्थ लेकर कोई नहीं चलेगा

दृष्टिबाधित,दिव्यांग और सिख धर्म के अनुयाइयों के कृपाण, पुलिस प्रशासन पर यह लागू नहीं होगा

कोई किसी दूसरे धर्म ग्रन्थ का अपमान नहीं करेगा, धार्मिक स्थानों, दीवारों पर झंडे पोस्टर या बैनर नहीं लगाएगा

किसी ऐसे कार्यक्रम का आयोजन नहीं होगा जिससे दूसरे धर्म की भावनाएं आहत हों, न ही ऐसा कोई बयान या भाषण दिया जाएगा

सोशल मीडिया पर भी आहत करने वाले संदेश प्रसारित नहीं किए जाएंगे, ऐसा करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी

कोई व्यक्ति किसी खुले स्थान पर या मकानों की छतों पर ईट, पत्थर, सोडा वाटर की बोतल, ज्वलनशील पदार्थ नहीं रखेगा

ऐसा कोई अनुचित मुद्रण या प्रकाशन नहीं करेगा जिससे साम्प्रदायिक तनाव या समुदायों के बीच वैमनस्य हो

ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी, नगर निगम, स्वास्थ्य, सफाई कर्मी से अभद्रता करता है तो उस पर विधिक कार्रवाई की जाएगी

सार्वजनिक स्थान पर पुतला दहन नहीं होगा, मजिस्ट्रेट की अनुमति बिना सरकारी भवनों में कोई प्रदर्शन नहीं होगा

होटलों, धर्मशालाओं, गेस्ट हाउस में बिना आइडी प्रूफ के किसी को ठहरने नहीं दिया जाएगा

संबंधित खबरें