DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  लखनऊ  ›  संपादित: कैम्पस: सीबीएस की परीक्षा रद्द करने के फैसले पर जतायी खुशी

लखनऊसंपादित: कैम्पस: सीबीएस की परीक्षा रद्द करने के फैसले पर जतायी खुशी

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Newswrap
Wed, 14 Apr 2021 08:10 PM
संपादित: कैम्पस: सीबीएस की परीक्षा रद्द करने के फैसले पर जतायी खुशी

संपादित: कैम्पस: सीबीएस की परीक्षा रद्द करने के फैसले पर जतायी खुशी

लखनऊ। प्रमुख संवाददाता

सीबीएसई की ओर से हाईस्कूल की परीक्षा रद्द करने तथा इण्टर की परीक्षा स्थगित किए जाने से राजधानी के अभिभावकों ने राहत की सांस ली है। अभिभावकों ने लखनऊ में कोविड के संक्रमण को देखते हुए इसे सराहनीय कदम बताया है। अभिभावकों के साथ स्कूलों ने भी राहत की सांस ली है। स्कूल संचालकों ने भी इसकी सराहना की है। लोगों का कहना है कि परीक्षाएं तो होती रहेंगी, बच्चों का जीवन सुरक्षित रखना सबसे ज्यादा जरूरी है।

अभिभावकों ने कहा

यह बहुत सराहनीय कदम है। जिस तरह से कोरोना ने पांव पसार लिया है। उससे बच्चों की जान जोखिम में डालना बिल्कुल उचित नहीं था। सीबीएसई का फैसला सराहनीय है। जीवन रहेगा तो बच्चे बहुत परीक्षाएं दे लेंगे।

राखी मेहता, आलमबाग

बहुत खराब दौर चल रहा है। लखनऊ में हर जगह कोरोना फैल चुका है। सैकड़ों स्कूलों के शिक्षक भी पाजिटिव हो चुके हैं। ऐसे में बच्चों को एक भी दिन स्कूल भेजना उनकी सेहत से खिलवाड़ करना है। फैसला स्वागत योग्य है।

दिव्या नागर, अभिभावक, आशियाना कालोनी

---------------------------

जब से कोरोना फैला है हम लोग काफी दहशत में थे। प्रैक्टिकल देने में ही घबराहट हो रही थी। परीक्षा की पूरी तैयारी हो चुकी थी लेकिन डर केवल कोरोना का था। अब राहत मिली है।

संजू, कक्षा नौ, लखनऊ पब्लिक कालिजिएट

हम लोगों को बहुत खुशी हुई है। बोर्ड परीक्षा स्थगित करने होने से डर कम हो गया है। हम लोग परीक्षा के लिए तैयार थे लेकिन कोराना की वजह से डर रहे थे।

श्रेया, कक्षा 12

----------------------------------

बच्चों की जिन्दगी पहले है। सरकार का निर्णय ठीक है। जैसी देश की स्थिति है उसमें यह कदम उठाना सही है। जब स्थिति समान्य होगी परीक्षा करायी जा सकती है। अन्य बोर्ड को भी इसी तरह का फैसला लेना चाहिए

सेवक राम, प्रबंधक, सर्वागींण विकास पब्लिक कालेज तेलीबाग

-----------------------

फैसला सभी के हित में है। हाईस्कूल में रद्द करना और इण्टर में आगे बढ़ाना दोनों फैसले सही हैं। इस समय देश में कोरोना की स्थिति काफी खतरनाक है। प्रैक्टिकल परीक्षाओं को भी स्थगित कर देना चाहिए।

सर्वजीत सिंह, अवध कालिजिएट, दरोगा खेड़ा व पारा

----------------------------------

संबंधित खबरें