अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाई के हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए लखनऊ पहुंचे डॉ. कफील अहमद

बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर के निलंबित चिकित्सक कफील अहमद गुरुवार को डीजीपी मुख्यालय पहुंचे और अपने भाई काशिफ जमील पर हुए जानलेवा हमले की घटना का अब तक पर्दाफाश न होने पर गहरी नाराजगी जताई। उन्होंने आईजी लोक शिकायत मोहित अग्रवाल को दो प्रार्थना पत्र भी दिए।

डॉ. कफील अहमद के साथ उनके भाई अदील अहमद भी डीजीपी ओपी सिंह से मिलने आए थे लेकिन डीजीपी ने उनकी मुलाकात नहीं हो सकी। दोनों ने आईजी लोक शिकायत मोहित अग्रवाल से मुलाकात कर घटना का शीघ्र पर्दाफाश कराए जाने की मांग की। उन्होंने आरोप लगाया कि गोरखपुर के दो पुलिस अफसरों ने हमले में घायल उनके भाई काशिफ जमील के इलाज में बाधा डालने की कोशिश की। दोनों अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।

डीजीपी को संबोधित इस प्रार्थना पत्र में आरोप लगाया गया है कि गोली लगने ने घायल उनके भाई का जब गोरखपुर के एक निजी हास्पिटल में प्राथमिक इलाज शुरू होने वाला था, सभी वहां पहुंचे सीओ गोरखनाथ ने कहा कि पहले जिला अस्पताल में मेडिको लीगल होगा फिर उपचार होगा। पुलिस अधिकारियों ने चार घंटे तक उनके घायल भाई का इलाज नहीं होने दिया। प्रार्थना पत्र में दोनों पुलिस अधिकारियों के विरूद्ध जांच कराकर कार्रवाई करने की मांग की गई है। दूसरे प्रार्थना पत्र में कहा गया है कि पुलिस ने उनके भाई पर हमले की घटना का 48 घंटे में पर्दाफाश करने का दावा किया था कि लेकिन घटना के चार दिन बाद भी न तो घटना का खुलासा हुआ है न किसी की गिरफ्तारी हो पाई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dr. Kaphil reach DGP office