DA Image
14 अप्रैल, 2021|9:30|IST

अगली स्टोरी

रायबरेली रूट पर बढ़ा डबलिंग का दायरा

default image

- मुख्य रेल संरक्षा आयुक्त ने किया 16 किमी डबलिंग का निरीक्षण

- 79 किमी. रेलखंड ट्रेन संचालन के लिए तैयार

लखनऊ। वरिष्ठ संवाददाता

रायबरेली के रास्ते लखनऊ से वाराणसी जाने वाली ट्रेनों को अब गति मिल सकेगी। रेलवे ने इस रेलखंड पर 16 किलोमीटर और रेल दोहरीकरण कर दी है। मंगलवार को मुख्य रेल संरक्षा आयुक्त एसके पाठक ने डबलिंग और विद्युतीकरण का निरीक्षण किया। उनकी क्लीयरेंस के बाद यह 16 किलोमीटर रूट भी ट्रेन संचालन के लिए शुरू हो जाएगा। इसे मिलाकर रेलवे ने लखनऊ से रायबरेली के 78 किलोमीटर लंबे रेलखंड पर 61 किलोमीटर की डबलिंग पूरी की है। अगले साल अप्रैल तक इस पूरे रूट की दोहरीकरण और विद्युतीकरण की योजना को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

रायबरेली होकर वाराणसी रेलखंड पर उतरेठिया तक ही दोहरी लाइन थी। इस कारण सुबह लखनऊ वाराणसी इंटरसिटी, प्रयागराज लखनऊ गंगा गोमती एक्सप्रेस, जनता एक्सप्रेस, त्रिवेणी एक्सप्रेस जबकि दोपहर में नीलांचल एक्सप्रेस, पंजाब मेल, काशी विश्वनाथ और वाराणसी से आने वाली जनता एक्सप्रेस की क्रासिंग पड़ जाती थी। ऐसे में एक ट्रेन को पास कराने में 30 मिनट तक का समय लग जाता था। रेलवे ने पहले चरण में उतरेठिया से रायबरेली और दूसरे चरण में अमेठी से रायबरेली रेलखंड की दोहरीकरण के साथ विद्युतीकरण भी शुरू किया। मंगलवार को गंगागंज से कुंदनगंज के बीच 16 किलोमीटर को कमीशन कर दिया गया। डीआरएम संजय त्रिपाठी ने बताया कि अगले साल अप्रैल तक रेल दोहरीकरण पूरा हो जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Doubling scope increased on Rae Bareli route