DA Image
7 जुलाई, 2020|10:33|IST

अगली स्टोरी

दूरदर्शन- वंस मोर

वन्देमातरम पढ़ा नहीं तो मन्दिर जाना व्यर्थ यहां...

लखनऊ। वरिष्ठ संवाददाता

कविता और शायरी पर आधारित दूरदर्शन उत्तरप्रदेश के रिएलिटी शो 'वंस मोर' का सीजन-2 शुरू होने जा रहा है। शनिवार को नए सीजन के पहले एपिसोड की रिकॉर्डिंग की गई और इस विशेष लॉन्चिंग एपिसोड के मुख्य अतिथि विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित थे।

वंस मोर: सीजन 2 को पहला एपिसोड स्वतंत्रता दिवस पर केन्द्रित था और इसमें कवियों ने देशभक्ति से ओतप्रोत रचनाएं सुनाकर भारत मां की महिमा का गुणगान किया। बाराबंकी के जगदीप अंचल ने यहां सुनाया कि, 'सैनिकों की शक्ति व पराक्रम का जो प्रतीक है, जननी को पुत्र का प्रणाम वन्देमातरम...'। इटावा के गौरव चौहान ने कुछ यूं कहा कि, 'सिर्फ नही टुकड़ा जमीन का मेरी जीवनदाता है ,मैं हूँ इसका लाल और ये मेरी भारत माता है...'। सीतापुर के रजनीश मिश्र ने सुनाया, 'वन्देमातरम पढ़ा नहीं तो मन्दिर जाना व्यर्थ यहां, वन्दे मातरम पढ़ा नहीं तो दुआ नमाज अनर्थ यहां...'। लखनऊ की व्यंजना शुक्ला ने सुनाया, 'जान अगर देनी पड़ जाए तो दे देंगे, प्राणों से भी हमें तिरंगा प्यारा है...'। सीतापुर से आए अवधी भाषा के कवि कमलेश मौर्य मृदु ने कहा, 'सब जन मिलिकै करौ सहीदन कै सपना साकार, जगद्गुरु हो भारत, जग मा गूंजै जय जयकार...'। वंसमोर कार्यक्रम को प्रस्तुत कर रहे हैं रमेश चन्द्र शुक्ल और इसकी परिकल्पना, संचालन व निर्देशन आत्मप्रकाश मिश्र का है। कार्यक्रम का आलेख व शीर्षक गीत वत्सला पांडेय ने तैयार किया है। इस अवसर पर कार्यक्रम प्रमुख रमा अरुण त्रिवेदी, दूरदर्शन के अन्य पदाधिकारी और इटावा के एक स्कूल के बच्चों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम का प्रसारण 15 अगस्त को दिन में 12 बजे और रात 9 बजे होगा।