DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मरीज पर आफत : पढ़ाई न योग्यता, मरीजों को लगा रहा इंजेक्शन 

सिविल अस्पताल में मरीजों की जान से खिलवाड़ हो रहा है। यहां कभी लावारिस हालत में भर्ती हुआ युवक अब खुद मरीजों का इलाज कर रहा है। अधिकारियों की शह पर यह अप्रशिक्षित युवक मरीजों को इंजेक्शन लगाता है, ग्लूकोज की बोतल चढ़ा रहा है।  

उधर अधिकारी कहते हैं कि युवक अब यहां सेवाभाव से दूसरे मरीजों की मदद कर रहा है और एक निजी एजेंसी के जरिए उसे अस्पताल में रखा गया है। आपके अपने लोकप्रिय 'हिन्दुस्तान' की पड़ताल में यह बात सामने आई है कि वह बाकायदा मास्क व ग्लव्ज पहनकर मरीजों को इंजेक्शन, ग्लूकोज आदि लगाता है। 

दूसरे तल पर रहता है युवक: सिविल अस्पताल में पुरानी बिल्डिंग के दूसरे तल पर मेडिकल वॉर्ड में लावारिस मरीजों को भर्ती किया जाता है। यहीं पर काफी समय पहले सुनील नाम का युवक भर्ती कराया गया था। तबीयत ठीक होने के बाद भी वह कहीं नहीं गया। सूत्रों की मानें तो उसे अफसरों की शह मिली हुई है और उन्होंने ही सुनील को सफाईकर्मी के रूप में यहां रखा हुआ है।
 उसे दूसरे भर्ती मरीजों की तरह ही अस्पताल से भोजन आदि सुविधाएं मिलती हैं। वॉर्ड में हर नर्स, सफाईकर्मी और वार्ड ब्वॉय उसे अच्छी तरह से जानते हैं। कोई उसे इलाज करने से नहीं रोकता। 
नहीं सुधर रहे हैं हालात : सिविल अस्पताल में मरीजों के साथ लापरवाही लगातार सामने आ रही है। हाल ही में 'हिन्दुस्तान' ने उजागर किया था कि यहां की इमरजेंसी में तीमारदार से ही मरीज की ग्लूकोज की बोतल में पानी डलवाकर फीडिंग करवाई जा रही थी। 

लावारिस मरीज अब ठीक हो गया है। वह मेल मेडिकल वॉर्ड में रहता है और मरीजों की मदद करता है। निजी एजेंसी के जरिए उसे मरीजों की सेवा के लिए रखा गया है।

 एके सिंह, सीएमएस, सिविल अस्पताल 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Disorder on patient: No qualification patients injection injection