अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हर जिले के 50-50 विद्यालयों में आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण

हर जिले के 50-50 विद्यालयों में आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण

मुख्यमंत्री स्कूल सुरक्षा कार्यक्रम के तहत प्रत्येक जिले के 50-50 विद्यालयों में आपदा प्रबंधन का प्रशिक्षण, जागरुकता व मॉकड्रिल आदि कार्यक्रम होंगे। इसके लिए राज्य आपदा प्रबंध प्राधिकरण ने 7.50 करोड़ रुपये का अनुमोदन किया है। प्राधिकरण की राज्य कार्यकारिणी समिति की बैठक में 10 प्रस्ताव अनुमोदित किए गए हैं।

राज्य आपदा प्रबंध प्राधिकरण की राज्य कार्यकारिणी समिति की बैठक शुक्रवार को मुख्य सचिव डा. अनूप चन्द्र पांडेय की अध्यक्षता में हुई। राहत आयुक्त संजय कुमार ने बताया है कि बैठक में वर्ष 2018-19 के लिए राज्य आपदा प्रबंध योजना को अनुमोदित किया गया। समुदाय आधारित आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण परियोजना के तहत 19 आपदा संवेदनशील जनपदों के 950 ग्राम पंचायतों में आपदा प्रबंधन संबंधी प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए 4.69 करोड़ रुपये की धनराशि अनुमोदित की गई। इस योजना में चयनित प्रत्येक ग्राम पंचायत से 30-30 व्यक्तियों को प्रशिक्षित किया जाएगा।

युवक, महिला मंगल दल के सदस्यों को देंगे प्रशिक्षण

राहत आयुक्त ने बताया है कि युवा कल्याण विभाग के 150 अधिकारियों तथा 750 पीआरडी जवानों और युवक/महिला मंगल दल के सदस्यों को पांच दिवसीय आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस प्रशिक्षण के लिए 60.75 लाख रुपये अनुमोदित किया गया है। पंचायती राज विभाग के 2460 अधिकारियों/कर्मचारियों को राज्य/जनपद स्तरीय प्रशिक्षण देने की योजना है। इस प्रशिक्षण पर 105.75 लाख रुपये खर्च होंगे।

कुम्भ मेला-2019 में आपदा प्रबंधन योजना तैयार करने तथा भीड़ प्रबंधन पर मार्गदर्शन करने के लिए कन्सल्टेंट नियुक्त करने के प्रस्ताव को सैद्धांतिक सहमति दी गई। राहत आयुक्त के अनुसार निजी संस्था स्काई मेट द्वारा प्रदेश में तीन माह के लिए विभिन्न आपदाओं के संबंध में पूर्व चेतावनी एवं पूर्वानुमान की निःशुल्क सेवा के लिए एमओयू करने के प्रस्ताव को भी अनुमोदित कर दिया गया है। बैठक में अपर मुख्य सचिव सुश्री रेणुका कुमार सहित राजस्व विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Disaster management training in 50-50 schools in every district