DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ईद से पहले दंगा नियंत्रण योजना का रिहर्सल करने के निर्देश

प्रमुख संवाददाता-राज्य मुख्यालय

डीजीपी ओपी सिंह गुरुवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सभी पुलिस कप्तानों, डीआईजी-आईजी रेंज व एडीजी जोन से मुखातिब हुए। उन्होंने अपराधियों के खिलाफ लगातार अभियान चलाने, त्याहारों पर विशेष सतर्कता बरतने और बाढ़ राहत की तैयारियां जारी रखने के निर्देश दिए। डीजीपी ने कहा कि ईद से पहले दंगा नियंत्रण योजना का रिहर्सल जरूर कर लिया जाए।

इससे पहले डीजीपी ने गोमती नगर विस्तार स्थित यूपी 100 सभागार में वीडियो कांफ्रेंसिंग सुविधा का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि रमजान माह व ईद-उल-फितर त्योहार को देखते हुए पिछले वर्षो में घटित घटनाओं व विवादों के आधार पर संवेदनशील जिलों की समीक्षा कर ली जाए। इसमें अन्य विभागों के अधिकारियों के साथ संयुक्त बैठक भी होनी चाहिए। थाना प्रभारियों के अलावा सीओ व उनके समकक्षीय मजिस्ट्रेट भी संयुक्त रूप से विवादित स्थानों का भ्रमण कर समस्या का समाधान कराएं। शांति समितियों के सदस्यों व विभिन्न मस्जिदों के मुतवल्ली / इमाम के साथ बैठकें करके सारी जरूरी व्यवस्थाएं कराई जाएं। उनके मोबाइल नंबरों की सूची रखते हुए लगातार संवाद भी बनाए रखा जाए। डीजीपी ने कहा कि ईद के दौरान पूर्व में हुई घटनाओं की समीक्षा करके असामाजिक तत्वों को सीआरपीसी की धारा 107/116 के तहत पाबंद भी किया जाए। बाजारों में अग्निशमन की पर्याप्त व्यवस्था करा ली जाए।

डीजीपी ने कहा कि ईद से पहले दंगा नियंत्रण योजना का रिहर्सल तथा संबंधित उपकरणों जैसे-लाठी, हेलमेट, बाडी प्रोटेक्टर, केनशील्ड, टीयर गैस गन, एन्टी रायट गन, रबर बुलेट, वाटर कैनन व वज्र वाहन आदि उपकरणों का भौतिक निरीक्षण कर लिया जाए। क्यूआरटी टीमों को तैयार रखा जाए। इसमें पुलिस बल, पीएसी व होमगार्ड के साथ-साथ सिविल डिफेन्स, पुलिस मित्र व विशेष पुलिस अधिकारियों की भी डियूटी लगाई जाए। गोवध जैसी घटनाओं पर पूर्ण एवं प्रभावी नियंत्रण करने के लिए आवश्यक उपाय किए जाएं। साथ ही सोशल मीडिया की सूचनाओं पर सतर्क दृष्टि रखते हुए आवश्यकतानुसार तत्काल अफवाहों का खंडन किया जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:DGP instructed for action plan