DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोदी की स्वच्छता मुहिम के हमराही बने अमेठी के दीपक


स्वच्छता अभियान को लेकर शुरू की गई प्रधानमंत्री मोदी की मुहिम को अमेठी के बीएचईएल कर्मी दीपक कुमार पांडेय की शोध पुस्तक का साथ मिल गया है। 12 विश्व रिकार्ड के साथ साहित्य के रिकार्डमैन बनते जा रहे दीपक ने अपनी सातवीं पुस्तक कचरे का विज्ञान-अपशिष्ट संहिता को प्रधानमंत्री को समर्पित किया है। इस पुस्तक में उन्होंने कचरे के हर पहलू को छुआ है।
ब्रह्मांड की रचना से लेकर पृथ्वी पर जीवन के उद्भव तक की घटनाओं को चरणबद्व तरीके से उकेरी गई पुस्तक में शौचालय के उपयोग तथा मल विज्ञान जैसे विषयों को भी शामिल किया गया है।

वीवीआईपी कही जाने वाली अमेठी राजनीति के साथ ही खेल, कला, साहित्य सहित विभिन्न क्षेत्र की प्रतिभाओं से भरी पड़ी है। वर्ष 2017 से अमेठी के बीएचईएल में उप अभियंता के रूप में कार्यरत दीपक कुमार पांडेय वैसे तो इंजीनियर हैं, लेकिन साहित्य के क्षेत्र में उनकी रुचि उन्हें लगातार प्रसिद्धि दिला रही है। जौनपुर जिले के सिकरारा थाना क्षेत्र के पाण्डेयपुर निवासी प्रभाकर पांडेय के पुत्र दीपक पांडेय मैकेनिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट व प्रबंधन में पोस्ट ग्रेजुएट हैं। प्रकृति से प्रेम रखने वाले दीपक उपन्यासकार, कवि, पर्यावरणविद, शोधार्थी व व्याख्याता भी हैं।
सातवीं पुस्तक स्वच्छता को समर्पित
स्वच्छता को लेकर लिखी गई कचरे का विज्ञान दीपक की सातवीं पुस्तक है। भारतीय संविधान पर लिखी पुस्तक भास व भारत गणराज्य पद्यावली लिम्का बुक आफ रिकार्ड्स में दर्ज हैं। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर पुस्तक प्रणाम महात्मा को भी लिम्का बुक में जगह मिली है। दो उपन्यास बरगदनाथ व सम्पूर्ण बरगदनाथ के बाद जल संरक्षण विषय पर लिखी उनकी पुस्तक तालाब कहे पुकार के भारत सरकार के उपक्रम द्वारा पुरस्कृत हो चुकी है। साहित्य के क्षेत्र में 12 विश्व रिकार्ड पाने वाले वह विश्व के इकलौते साहित्यकार बन चुके हैं।

वैचारिक संघर्ष है कचरे का विज्ञान
कचरे का विज्ञान पुस्तक केवल तकनीकी पुस्तक नहीं बल्कि मेरा वैचारिक संघर्ष भी है। दो वर्ष के दौरान लगभग 800 पुस्तकों का अध्ययन करने के साथ ही कचरा प्रबंधन को लेकर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड व नगर पालिकाओं के कर्मचारियों तक से बातचीत की है। निश्चित ही यह पुस्तक स्वच्छता मिशन में सहायक होगी। प्रधानमंत्री को समर्पित पुस्तक की एक प्रति उन्हें भेजा है।
दीपक कुमार पांडेय, उप अभियंता, बीएचईएल अमेठी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Deepak dedicates its seventh book Waste to the Science-Waste kuda to the Prime Minister