DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आधार कार्ड न लाने पर गर्भवती की नहीं की जांच, गर्भस्थ की मौत

- आधार कार्ड न होने पर नहीं किया था अल्ट्रासाउंड

लखनऊ। निज संवाददाता

वीरांगना अवंती बाई महिला अस्पताल (डफरिन) में डॉक्टरों और स्टाफ की लापरवाही से गर्भस्थ की मौत हो गई। परिवारीजनों ने आरोप लगाया कि आधार कार्ड मौके पर न होने पर अल्ट्रासाउंड नहीं किया गया था। जांच टलने से गर्भस्थ की मौत हो गई।

नहीं किया था अल्ट्रासाउंड

खदरा निवासी विशाल की गर्भवती पत्नी आरती (30) का डफरिन अस्पताल में इलाज चल रहा है। विशाल के मुताबिक पांच फरवरी को वह पत्नी को लेकर अस्पताल गए थे। वहां डॉक्टर को दिखाया था तो उन्होंने सब कुछ सही होने की बात कही थी। सोमवार को वह पत्नी के पेट में काफी दर्द उठने पर फिर से अस्पताल लेकर पहुंचे थे। आरोप है कि डॉक्टर ने तुरंत ही अल्ट्रासाउंड की बात कही थी, लेकिन उस समय वह आधार कार्ड नहीं ले गए थे। आधार कार्ड न होने की वजह से सोमवार को जांच नहीं की गई। इस पर वह पत्नी को लेकर वापस घर आ गए।

जांच में मृत गर्भस्थ की पुष्टि

विशाल के मुताबिक सोमवार को जांच न होने के बाद वह बुधवार को फिर से डफरिन अस्पताल पहुंचे। इस बार वह आधार कार्ड लेकर आए थे। बुधवार को जब अल्ट्रासाउंड जांच हुई तो पता चला कि गर्भस्थ मृत अवस्था में है। गर्भ में उसका मूवमेंट नहीं है। डॉक्टरों ने बताया कि बच्चा मर चुका है। आरोप हैकि यदि पहले ही डॉक्टरों व स्टाफ ने गंभीरता दिखाते हुए दर्द होने पर अल्ट्रासाउंड कर जांच कर ली होती तो बच्चे की जान बच सकती थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:dafrin