DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश लखनऊआधा घंटे साइकिल चलाने से डायबिटीज की संभावना 40 प्रतिशत कम

आधा घंटे साइकिल चलाने से डायबिटीज की संभावना 40 प्रतिशत कम

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 08:15 PM
आधा घंटे साइकिल चलाने से डायबिटीज की संभावना 40 प्रतिशत कम

शहर में कहीं वॉकथान, साइकिल रैली व प्रभात फेरी निकाली गई

लखनऊ। संवाददाता

रोजाना आधा घंटे साइकिल चलाने वाले लोगों में डायबिटीज होने की संभावना 40 फीसदी कम होती है। नियमित साइकिल चलाने से लोगों में तनाव व मोटापा नहीं होता है। जिससे इन लोगों में डायबिटीज के साथ ब्रेन स्ट्रोक और दिल का दौरा पड़ने की आशंका बहुत कम होती है। यह जानकारी हिदा फाउण्डेशन द्वारा रविवार को विश्व डायबिटीज दिवस पर आयोजित साइकिल रैली में कही।

हेल्थ इनिशिएटिव एंड डायबिटीज एक्शन फाउंडेशन व पेडलयात्री साइक्लिंग एसोसिएशन द्वारा यह रैली गोमतीनगर स्थित जनेश्वर मिश्र पार्क से चौक स्थित रूमी दरवाजा तक निकाली गई। इस मौके पर डॉ. नरसिंह वर्मा, डॉ मनोज श्रीवास्तव, डॉ. सुदीपकुमार, डॉ. जेके बंसल, डॉ. इमरान खान विचार रखे। रविववार को इस मौके पर अलग अलग संस्थाओं द्वारा वॉकथान, साइकिल रैली व प्रभात फेरी निकाली गई।

डायबिटीज मरीज नंगे पैर न चलें

पीजीआई परिसर में विश्व मधुमेह दिवस पर प्रभात फेरी निकाल लोगों को डायबिटीज के प्रति जागरूक किया गया। संस्थान के इंडोक्राइन सर्जन डॉ. ज्ञान चंद ने कहा कि डायबिटीज मरीज नंगे पैर कतई न चलें। नोकदार जूते पहनने से बचें। नाखून भी ज्यादा छोटे न करें। ताकि पैर व हाथ में कोई जख्म न होने पाए। अमूमन डायबिटीज मरीजों में घाव हो जाने पर भरता नहीं है। जिससे डायबिटिक फुट की समस्या हो जाती है। समस्यसा बढ़ने पर पैर तक काटने की नौबत आ जाती है। लिहाजा मरीजों को शुगर का स्तर नियंत्रित रखना चाहिए। नियमित परीक्षण करें और डॉक्टर की सलाह लेते रहें। अधिक समय तक अनियंत्रित शुगर को नजर अंदाज न करें। पीजीआई निदेशक डॉ. आरके धीमन और सीएमएस डॉ. गौरव अग्रवाल ने संस्थान परिसर में रहने वाले स्टाफ परिवार के सदस्सों और बच्चों को रोजाना टहलने की सलाह दी। रेजिडेंट डॉ.एमएस विश्वक, डॉ. दिलीप रमेश होयशल आदि ने डायबिटीज के बारे में लोगों को जागरूक किया।

30 मिनट टहलें जरूर

डायबिटीज सपोर्ट वेलफेयर सोसाइटी द्वारा गोमतीनगर में वॉकथॉन में लोगों को डायबिटीज बचाव के बारे में जागरूक किया गया। सोसायटी के सचिव डॉ. अरुण पाण्डेय ने कहा कि रोजाना करीब 30 मिनट चार से पांच किमी. टहलें जरूर। इससे डायबिटीज को काबू में किया जा सकता है। करसत और योग को दिनचर्या में शामिल करें। रविवार को लोहिया पार्क में पेंटिंग, क्विज आदि कई प्रतियोगिता आयोजित हुईं। हारेगा डायबिटीज जब खेलेगा इंडिया स्लोगन लिखा केक काटा गया।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें