DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साइबर जालसाजों ने छात्र समेत पांच को ठगा

लखनऊ। निज संवाददाता

कार्ड क्लोनिंग करने वाले गिरोह ने मेडिकल छात्र समेत पांच लोगों के खातों से करीब साढ़े तीन लाख रुपये पार कर दिये। वहीं, कुछ लोगों के साथ ठगों ने बैंक कर्मी बन कर फोन पर बात कर वारदात को अंजाम दिया। पीड़ितों ने एफआईआर दर्ज कराने के साथ साइबर सेल में शिकायत दर्ज कराई है।

गोमतीनगर विकल्पखण्ड-2 निवासी अंजली शुक्ला के पास एक कॉल आई थी। फोन करने वाले ने खुद को पीएनबी कर्मी बताते हुये अंजली से उनके अकाउंट की डिटेल हासिल कर ली। कुछ देर बाद ही उनके खाते से करीब 1.58 लाख रुपये निकाल लिये गये। वहीं, होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज के छात्र नौशाद अहमद का एचडीएफसी बैंक में अकाउंट है। उन्हें चालू खाता खुलवाना था। ऑनलाइन सर्च करने के बाद केनरा बैंक कस्टमर केयर का नम्बर सर्च कर कॉल की। नौशाद के मुताबिक बैंक कर्मी बन कर बात करने वाले व्यक्ति ने उनके सेविंग अकाउंट और पिन की डिटेल ले ली। कुछ देर बाद ही उनके खाते से 56 हजार रुपये निकल गये। मैसेज आने पर नौशाद को ठगी का पता चला। वहीं, इन्दिरानगर शीतल रेजीडेंसी निवासी रीता श्रीवास्वत के कार्ड का क्लोन बना कर 45 हजार, सेक्टर-9 निवासी प्रयांशु तिवारी से 31 हजार, सेक्टर-दस निवासी सुधांशु कुमार के अकाउंट से 50 हजार और व्यापारी रितिक कनौजिया के ई-वॉलेट से ठगों ने 29 हजार रुपये पार कर दिये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:crime