DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो पक्षों में मारपीट, तनी बंदूके

- जयराजपुरी कालोनी की घटना

- सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने से मचा हड़कम्प

- पुलिस ने दोनों तरफ से मुकदमा दर्ज कर जब्त की बंदूक

सरोजनीनगर। हिन्दुस्तान संवाद

सरोजनीनगर में गाड़ी खड़ी करने के विवाद में रविवार को दो पक्षों में मारपीट हो गई। मामला इतना बढ़ा गया कि एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर लाइसेंसी बंदूक तान दी। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले आई। इस बीच घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। एसएसपी ने इसका संज्ञान लेते हुए सरोजनीनगर पुलिस को सख्त कार्रवाई के आदेश दिए। पुलिस ने दोनों पक्ष की तहरीर पर मुकदमा दर्ज करके दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने घटना में इस्तेमाल बंदूक मय कारतूस जब्त कर ली है।

सीओ कृष्णानगर लाल प्रताप सिंह ने बताया कि सरोजनीनगर के जयराजपुरी कालोनी निवासी गुड्डू यादव की कार का सेल्फ खराब हो गया था। इसके चलते उन्होंने कार दरवाजे के पास ही रास्ते में खड़ी कर दी थी। इसकी वजह से उधर से स्कूटी लेकर निकल रहे युसूफ खान के रिश्तेदार स्कूटी सहित यूसुफ के घर तक नहीं पहुंच सके। बाद में वह वहीं पर स्कूटी खड़ी करके यूसुफ के घर पहुंचे। रिश्तेदार ने जब रास्ते में कार खड़ी होने की जानकारी यूसुफ को दी, तो यूसुफ भड़क गया और गुड्डू के दरवाजे पर जा पहुंचा। वहां उसका गुड्डू की बहन प्रियंका से विवाद हो गया। आरोप है कि इस दौरान यूसुफ ने प्रियंका की पिटाई कर दी। गुड्डू को जब यह जानकारी हुई तो वह घर से निकला और यूसुफ से भिड़ गया। बवाल बढ़ने पर युसूफ अपने घर से लाइसेंसी बंदूक निकाल लाया और उन्हें जान से मारने की धमकी देने लगा।

महिला ने तानी बंदूक

पुलिस के मुताबिक कहासुनी के दौरान युसूफ की बहन गुलशन आरा भी वहां पहुंच गई। गुलशन आरा ने युसूफ के हाथ से बंदूक छीन ली। बाद में उसने बंदूक में कारतूस लोड करके गुड्डू की ओर तान दी। इससे मोहल्ले में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में घटना की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों की ओर से रिपोर्ट दर्ज कर ली है। इस मामले में गुड्डू की बहन प्रियंका ने गुलशन आरा और उसके भाई पर मारपीट का आरोप लगाया है। जबकि यूसुफ ने गुड्डू और उसके भाई पर मारपीट का आरोप लगाया है। पुलिस के मुताबिक गुड्डू, प्रियंका और यूसुफ को मामूली चोट आयी है। तीनों को सरोजनीनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज कराने के बाद छुट्टी दे दी गई। इंस्पेक्टर ने बताया कि प्रियंका की ओर से दी गई तहरीर में बंदूक का कोई जिक्र नहीं है और जांच पड़ताल के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

नहीं जमा कराया था असलहा

पुलिस की लापरवाही के चलते इस मारपीट के दौरान चुनाव आचार संहिता का जमकर उल्लंघन किया गया। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव की घोषणा होने के बाद सम्बंधित थानों को इलाके के सभी लाइसेंसी असलहे जमा करने के सख्त आदेश हैं। लेकिन, पुलिस की लापरवाही के कारण युसूफ की लाइसेंसी बंदूक अभी तक जमा नहीं हुई थी। इसी का नतीजा है कि मारपीट के दौरान यूसुफ ने असलहे का खुला प्रदर्शन किया। वीडियो वायरल होने के बाद हरकत में आई पुलिस ने युसूफ और दूसरे पक्ष से पंकज यादव को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने युसूफ की लाइसेंसी बंदूक जब्त कर ली है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:crime