DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आटो में छूटा तीन लाख रुपया ड्राइवर ने लौटाया

- लखनऊ आटो रिक्शा थ्री व्हीलर संघ (लार्टस) की मदद से मिला ब्रीफकेस - बैग में तीन लाख रुपये, जेवर और अन्य सामान था मौजूद लखनऊ। निज संवाददातातीन लाख रुपये, जेवर और अन्य सामान देखकर किसी की भी नीयत डोल सकती है लेकिन शहर के एक आटो ड्राइवर ने मालिक को बैग लौटाकर मिसाल पेश की है। गुरुवार को कानपुर से लखनऊ आए नेवी के एक अधिकारी आटो में अपना बैग भूल गए थे। उन्होंने गोमती नगर थाने में बैग गुमशुदगी होने की तहरीर दी। इस बीच लखनऊ आटो रिक्शा थ्री व्हीलर संघ (लार्टस)के सहयोग से ड्राइवर ने बैग वापस किया। हरदोई निवासी जेके मिश्रा विशाखापट्टनम में तैनात हैं। वह कानपुर निवासी पत्नी नीना मिश्रा और ससुर अनिल पाण्डेय के साथ गुरुवार दोपहर लखनऊ पहुंचे थे। उन्होंने गोमती नगर जाने के लिए चारबाग रवींद्रालय स्टैंड से आटो बुक की। वे लोग गोमती नगर में उतर गए लेकिन बैग भूल गए। आटो ड्राइवर मुकेश सिंह ने भी बैग पर ध्यान नहीं दिया। वह दूसरी सवारी लेकर चला गया। इस बीच उसकी निगाह बैग पर पड़ी तो उसने संचालक सोनू को जानकारी दी। इसके बाद लार्टस के पदाधिकारियों ने परिवारीजनों की तलाश की। लार्टस के कार्यालय में सौंपा गया बैग केकेसी स्थित लार्टस कार्यालय में अध्यक्ष पंकज दीक्षित, किशोर वर्मा की मौजूदगी में मालिक जेके मिश्रा को बुलाकर बैग वापस किया गया। उन्होंने पदाधिकारियों को रुपये देने की कोशिश की लेकिन सभी लोगों ने रुपये लेने से इनकार कर दिया। इसके बाद जेके मिश्रा ने ड्राइवर को एक हजार रुपये पुरस्कार दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:crime