अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्रा समेत चार लोगों की संदिग्ध हालात में मौत

- गोमतीनगर में शिक्षक की संदिग्ध हालात में मौत, विद्यालय पर प्रताड़ना का आरोप

- पारा में लोडर ड्राइवर और आशियाना में छात्र की संदिग्ध हालात में मौत

लखनऊ। निज संवाददाता

आशियाना में संदिग्ध हालात में छात्रा कामिनी (14) की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। हालांकि छात्रा की तबीयत बिगड़ने पर परिवारीजन उसे लेकर लोकबंधु अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। गोमती नगर के विनयखण्ड में मंगलवार को संदिग्ध हालात में शिक्षक हर्षित कुमार श्रीवास्तव (28) की मौत हो गई। उनका शव घर के कमरे में फर्श पर मिला। बहनोई ने स्कूल प्रबंधन पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है। उधर, पारा में लोडर के ड्राइवर राजेश कुमार (45) की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। उधर, आशियाना में छात्र धनंजय (14) की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। पुलिस का कहना है उसके गले में निशान थे। सम्भवत: उसने फांसी लगाई है।

घटना -एक

आशियाना के रमाबाई रैली स्थल के पास ख्वाजापुर में रहने वाले अनन्तराम की बेटी कामिनी (15) की मंगलवार को अचानक तबीयत बिगड़ गई। परिवारीजन उसे लेकर लोकबंधु अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पिता के मुताबिक कामिनी एक निजी स्कूल में दसवीं की छात्रा थी। मंगलवार को भण्डारे में वह दिन भर काम करती रही। शाम को उसे उल्टी-दस्त शुरू हो गए। लोकबंधु अस्पताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

घटना-दो

विनयखण्ड-एक निवासी हर्षित कुमार श्रीवास्तव सीतापुर रोड स्थित एक निजी विद्यालय में शिक्षक थे। वह बहन प्रियंका के साथ रहते थे। प्रियंका एक निजी कम्पनी में काम करती है। मंगलवार रात प्रियंका आफिस से लौटी तो देखा कि हर्षित का शव कमरे में फर्श पर औंधे मुंह पड़ा था। प्रियंका के शोर मचाने पर पड़ोसी जुट गए। फिर उसे लोहिया अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। हर्षित के बहनोई प्रदीप श्रीवास्तव ने बताया 11 अप्रैल को हर्षित ने एक विद्यालय में नौकरी ज्वाइंन की थी। विद्यालय प्रबंधन ने पहले महीने में उसे दस हजार रुपये वेतन दिया। फिर मई में उसे नौ हजार रुपये दिए। प्रबंधन ने जून का भी वेतन देने की कही थी लेकिन बाद में मना कर दिया। इसके साथ ही पहले माह में विद्यालय की गाड़ी उसे लेने-छोड़ने आती थी। लेकिन बाद में यह सुविधा भी बंद कर दी गई। वह अपने किराए से ड्यूटी पर आता-जाता था। प्रदीप का आरोप है विद्यालय प्रबंधन उसे परेशान कर रहा था। मंगलवार को हर्षित विद्यालय से आया तो उसकी तबीयत खराब हो गई। इस मामले में गोमतीनगर पुलिस का कहना है तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

घटना- तीन

पारा में कानपुर के चिड़ियाघर के पास रहने वाले राजेश कुमार लोडर ड्राइवर थे। मंगलवार को वह लोडर लेकर लखनऊ आए थे। उन्होंने पारा में लोडर खड़ा किया था। इसी बीच उनकी हालत बिगड़ गई। लोगों की जानकारी पर पुलिस मौके पर पहुंची और उन्हें लोकबंधु अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। पुलिस ने मोबाइल के जरिए परिवारीजनों से सम्पर्क करके जानकारी दी।

घटना- चार

आशियाना के सेक्टर एन निवासी सियाराम राजमिस्त्री है। परिवार में पत्नी सरोजनी, बेटे धनंजय, धीरज व बेटी प्रतिमा है। सियाराम के मुताबि बुधवार को धनंजय बेसुध हालत में घर में पड़ा मिला। शाम को पत्नी काम से लौटी तो उसने धनंजय को देखा। फिर उसे लोकबंधु अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस का कहना है धनंजय के गले में कसाव के निशान है। सम्भवत: उसने फांसी लगाकर खुदकुशी की है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:crime