DA Image
Thursday, December 2, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश लखनऊपार्षदों ने अधिकारियों पर उपेक्षा का अरोप लगाया

पार्षदों ने अधिकारियों पर उपेक्षा का अरोप लगाया

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊNewswrap
Thu, 11 Jan 2018 10:41 PM
पार्षदों ने अधिकारियों पर उपेक्षा का अरोप लगाया

महापौर ने जोन सात में पार्षदों व अधिकारियों के साथ की बैठकलखनऊ। प्रमुख संवाददातास्वच्छता का ढिढोरा पीट रहा नगर निगम अपने ही कार्यालय का साफ-सफाई नहीं करा पा रहा है। अधिकारी-कर्मचारी गंदगी व बदहाल व्यवस्था में काम करने को मजबूर हैं। महापौर ने बदतर हालत देखी तो अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई और शीघ्र व्यवस्था दुरुस्त करने का आदेश दिया।अधिकारियों को फटकारामहापौर संयुक्ता भाटिया ने जोनवार बैठक की नई परम्परा की गुरुवार को शुरूआत की। पहली बैठक जोन सात में प्रस्तावित थी। इसके बावजूद कार्यलय की स्थिति बदहाल मिली। बैठक के बाद महापौर ने कार्यालय का निरीक्षण किया। खस्ताहाल व्यवस्था को देख महापौर ने अधिकारियों को फटकार लगाई। उन्होंने टूटी छतों, अलमारियों एवं दीवारों को सही करवाने का आदेश दिया।ठेकेदार पर मनमानी का आरोपमहापौर ने पार्षदों से समस्याओं के बारे में जानकारी ली। पार्षदों ने अधिकारियों पर उपेक्षा का आरोप लगाया। उनका कहना था कि न तो समस्याओं का समाधान हो रहा है और न उन्हें किसी कार्य की जानकारी दी रही है। पार्षदों ने कहा कि ठेकेदार अपनी मनमानी से विकास कार्य करा रहे हैं। शंकरपुरवा तृतीय वार्ड की पार्षद हेमा सनवाल ने कहा कि सफाई कर्मचारियों की जितनी संख्या बताई जा रही है, उतने क्षेत्र में काम नहीं कर रहे हैं। आरोप लगाया कि कई सफाई सुपरवाइजर के परिवार के सदस्य की ड्यूटी लगाई गई है जो बिना काम किए तनख्वाह ले रहे हैं। अलाव में कम लकड़ी देने की समस्या लगभग सभी पार्षदों ने कही। जांच के आदेशमहापौर जी ने सभी बिंदुओं पर अधिकारियों पर तुरंत संज्ञान लेने और जांच कर दो दिन में रिपोर्ट देने का आदेश दिया। उन्होंने बायोमेट्रिक उपस्थिति को यथाशीघ्र लागू करने का निर्देश दिया है। व्यवस्था दुरुस्त करने के साथ पार्षद के साथ संवाद बनाए रखने का आदेश दिया है। महापौर ने कहा कि सभी को साथ लेकर चलना है और शहर को स्मार्ट सिटी की दौड़ में प्रथम स्थान दिलाना है। मौके पर जोनल अधिकारी अरविंद कुमार राय सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे। बैठक में पार्षद वीरेन्द्र कुमार वीरू, भृगुनाथ शुक्ला, दिलीप श्रीवास्तव, मिथिलेश सिंह चौहान, मनोज अवस्थी, हेमा सनवाल, अनिता पाल, सोनू पाल के अलावा पूर्व पार्षद उमेश सनवाल, देवेंद्र वर्मा, रामू पाल व आरपी सिंह उपस्थित हुए। कांग्रेस पार्षद ने किया बहिष्कारमहापौर के साथ बैठक का इस्माईलगंज प्रथम वार्ड की कांग्रेस दल की पार्षद अमिता सिंह ने बहिष्कार किया। वह बैठक में शामिल होने पहुंची ही नहीं। उन्होंने आरोप लगाया कि बैठक की जानकारी उनको न तो महापौर कार्यालय से मिली और न ही जोनल अधिकारी ने कोई औपचारिक जानकारी दी। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के माध्यम से जानकारी भेजकार औपचारिकता निभाई गई है जो किसी जनप्रतिनिधि के सम्मान के खिलाफ है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें