अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काउंसिल के छात्रों को मिलेगा खेलकूद में आगे बढ़ने का मौका

-सीआईएससीई के चीफ एक्जीक्यूटिव एवं सेक्रेटरी गैरी अराथून ने प्रिंसिपल कॉन्फ्रेंस में की घोषणा

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता

काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) के छात्रों को अब खेलकूद के क्षेत्र में भी आगे बढ़ने का मौका मिलेगा। छात्रों के लिए न केवल राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में भाग लेने के रास्ते खुलेंगे बल्कि वह छात्रवृत्ति तक प्राप्त कर सकेंगे। काउंसिल ने छात्रों को मौका देने के लिए जोनल, रीजनल और नेशनल स्तर पर खेलकूद प्रतियोगिताओं का आयोजन करने का फैसला लिया है।

सीआईएससीई के चीफ एक्जीक्यूटिव एवं सेक्रेटरी गैरी अराथून ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। वह उत्तर प्रदेश और उत्तराखण्ड के आईएससी व आईसीएसई स्कूलों के प्रधानाचार्यों की एक बैठक में भाग लेने के लिए आए थे। बैठक का आयोजन सीएमएस कानपुर रोड ऑडिटोरियम में किया गया। बैठक में एसोसिएशन ऑफ स्कूल्स फॉर द इण्डियन स्कूल सर्टिफिकेट के सेक्रेटरी सुधीर जोशी, सीएमएस के संस्थापक डॉ. जगदीश गांधी, सीएमएस प्रेसीडेंट प्रो. गीत गांधी किंगडम समेत उत्तर प्रदेश और उत्तराखण्ड के विभिन्न स्कूलों के प्रिंसिपल शामिल हुए।

एसजीएफआई का मान्यता मिली

चीफ एक्जीक्यूटिव एवं सेक्रेटरी गैरी अराथून ने बताया कि स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसजीएफआई) ने काउंसिल को अस्थाई मान्यता प्रदान कर दी है। वर्तमान सत्र से काउंसिल के स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों के लिए एसजीएफआई द्वारा आयोजित खेलों में शामिल होने का मौका मिलेगा। उन्होंने स्कूलों से अपने संसाधनों का इस्तेमाल करके जोनल, रीजनल और नेशनल स्तर की प्रतियोगिताएं कराने को कहा। यह प्रतियोगिताएं काउंसिल गेम्स एंड स्पोर्ट्स कहलाएंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Council students will get opportunity to move forward in sports