DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाराणसी, गोरखपुर समेत कई सीटों पर अभी भी उम्मीदवार तय नहीं कर सकी कांग्रेस

विशेष संवाददाता - राज्य मुख्यालय

कांग्रेस ने लखनऊ में आचार्य प्रमोद कृष्णन को उम्मीदवार भले ही घोषित कर दिया है लेकिन पार्टी सियासी दृष्टि से अहम वाराणसी, इलाहाबाद और गोरखपुर के अलावा करीब आधा दर्जन लोकसभा सीटों पर अभी तक अपने उम्मीदवार घोषित नहीं कर सकी है। वहीं, अंबेडकरनगर लोकसभा सीट पर घोषित उम्मीदवार उम्मेद निषाद को लेकर असमंजस की स्थिति पैदा हो गई है।

कांग्रेस अब तक प्रदेश की 66 लोकसभा सीटों पर अपना उम्मीदवार घोषित कर चुकी है। 6 लोकसभा सीट मुजफ्फरनगर, बागपत, आजमगढ़, कन्नौज, मैनपुरी और फिरोजाबाद पार्टी ने सपा-बसपा-रालोद गठबन्धन के लिए छोड़ी है। 7 लोकसभा सीट पर जन अधिकार पार्टी और 2 लोकसभा सीट को लेकर अपना दल संस्थापक स्व. सोनेलाल पटेल की पत्नी कृष्णा पटेल से पार्टी का चुनावी गठबन्धन है। हालांकि कृष्णा पटेल को चुनाव निशान आवंटित न हो पाने के कारण पीलीभीत में उनके द्वारा घोषित उम्मीदवार निर्दलीय हो गया। जिसके बाद कृष्णा पटेल गोण्डा से कांग्रेस के चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ रही हैं।

कांग्रेस ने अब तक जिन सीटों पर उम्मीदवार घोषित नहीं किये हैं उनमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सीट वाराणसी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर के अलावा इलाहाबाद, मछलीशहर, बलिया और डुमरियागंज लोकसभा सीट शामिल हैं। पार्टी नेताओं के मुताबिक जन अधिकार पार्टी को पहले बस्ती सीट दी गई थी लेकिन अब सपा और बसपा सरकार में मंत्री रहे राज किशोर सिंह को उम्मीदवार बनाये जाने के बाद जन अधिकार पार्टी को मछलीशहर सीट दे दी गई है। अलबत्ता जन अधिकार पार्टी की स्थिति भी कृष्णा पटेल गुट वाली है। उनके पास भी चुनाव चिन्ह न होने के कारण कांग्रेस के सिम्बल पर ही पार्टी चुनाव लड़ रही है।

दूसरी ओर, अंबेडकरनगर से घोषित उम्मीदवार उम्मेद सिंह निषाद के बारे में चर्चा है कि 13 अप्रैल को वह दुष्यन्त चौटाला की जननायक जनता पार्टी (जजपा) में शामिल हो गए हैं। हालांकि पार्टी अभी आधिकारिक तौर पर इस पर कुछ बोलने को तैयार नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:congress not declared candidates from vns n gkp yet