अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस ने लोकसभा चुनावों के लिए कसी कमर, तैयारियां तेज -जिला-शहर अध्यक्षों की राय -कांग्रेस अकेले लड़े चुनाव, गठबंधन मंजूर नहीं --प्रदेश

--जिला-शहर अध्यक्षों की राय -कांग्रेस अकेले लड़े चुनाव, गठबंधन मंजूर नहीं

--प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने स्थानीय स्तर के मुद्दों पर संघर्ष तेज करने के दिए निर्देश

प्रमुख संवाददताता-राज्य मुख्यालय

कांग्रेस ने 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों के लिए कमर कस ली है। गुरुवार को प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने प्रदेश मुख्यालय पर जिला व शहर अध्यक्षों की बैठक में तैयारियां तेज करने के निर्देश दिए। बैठक में जिला-शहर अध्यक्षों का बहुमत गठबंधन के खिलाफ था। यहां तक कहा गया कि निकाय चुनाव में उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन न होने की वजह विधानसभा चुनाव में सपा से हुआ गठबंधन रहा।

बैठक में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने जिलों में जनता से जुड़े मुद्दों पर प्रदर्शन करने, स्थानीय मुद्दों को जोरदारी से उठाने से निर्देश दिए हैं। इससे पहले, प्रदेश अध्यक्ष पद के कार्यकाल का विस्तार होने के बाद पहली बार लखनऊ पहुंचे राजबब्बर का भव्य स्वागत हुआ और देर शाम तक उनसे मिलने वालों की भीड़ पार्टी मुख्यालय पर बनी रही। राजबब्बर 13 जनवरी को भी प्रकोष्ठ की बैठक करेंगे और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के स्वागत की तैयारियों पर चर्चा होगी।

नगर निकाय में प्रदर्शन पर हुई चर्चा-कई अध्यक्षों ने नगर निकाय चुनाव में अपेक्षित प्रदर्शन न कर पाने का कारण विधानसभा चुनाव में सपा के साथ गठबंधन और बड़े नेताओं के प्रचार में न उतरने को बताया। कहा गया कि भाजपा से मुख्यमंत्री तक प्रचार में उतरे लेकिन पार्टी का कोई बड़ा नेता निकाय चुनाव में नहीं आया। बरेली के अध्यक्ष ने तीन तलाक का मुद्दा उठाया, कहा कि पार्टी का स्टैण्ड साफ नहीं है। राजबब्बर ने इस पर विस्तार से पार्टी का रुख साफ किया।

बूथ स्तर तक की कमेटियों की समीक्षा- उन्होंने बूथ स्तर तक सभी कमेटियों को मजबूत करने के निर्देश देते हुए कहा कि पीसीसी सदस्य, सक्रिय सदस्य से लेकर बूथ स्तर तक बैठकें हों। जिलों में आंदोलन व सघर्ष अभी से तेज कर दिए जाएं। जल्द ही प्रदेश के सभी जिलों में ‘तीन दिवसीय कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Congress Lok Sabha elections