DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहकारी बैंकों में घोटालों का खेल, एक सीईओ बर्खास्त

-कई अन्य सचिवों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई का फैसला

-जिला सहकारी बैंक सहारनपुर के सीईओ किए गए बर्खास्त

राज्य मुख्यालय। प्रमुख संवाददाता

जिला सहकारी बैंकों में अनियमितता और नियम विरुद्ध कार्य करने वाले अधिकारियों पर गुरुवार को हथौड़ा चला। सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा के निर्देश पर वित्तीय अनियमितता में जिला सहकारी बैंक सहारनपुर के सचिव / मुख्य कार्यपालक अधिकारी चुक्खन लाल को बर्खास्त कर दिया गया। जिला सहकारी बैंक इटावा के उप महाप्रंबधक सुनील कुमार पुण्डीर नियम विरुद्ध ऋण देने के आरोप में निलंबित किए गए हैं।

यह जानकारी उ.प्र. कोआपरेटिव बैंक लि. के प्रबंध निदेशक रविकांत सिंह ने दी है। उन्होंने बताया है कि जिला सहकारी बैंक लि. सहारनपुर के सचिव / मुख्य कार्यपालक अधिकारी चुक्खन लाल ने क्लास फोर के आठ पदों पर नियुक्ति का प्रकाशन कराया और 22 पदों पर चयन किया। ऐसा कर उन्होंने बैंक को भारी आर्थिक क्षति पहुंचाई। चुक्खन लाल के कार्यकाल में पं. दीनदयाल योजनान्तर्गत में वितरित ऋण वसूली की समीक्षा में पाया गया कि 42 लाख का एनपीए बढ़ा है। कर्मचारियों के पीएफ की धनराशि नियम विरुद्ध बैंक के व्यवसाय में विनियोजित किया। पीएफ में एक प्रतिशत अधिक ब्याज देकर 5.57 लाख रुपये की क्षति पहुंचाई। एफडी दर पर ऋण देकर 3.89 लाख यानी कुल 9.55 लाख रुपये की क्षति बैंक को पहुंचाई। अन्य कई काम इन्होंने नियम विरुद्ध किए। चुक्खन लाल पर वित्तीय अनियमितता और नियम विरूद्ध किये गये कार्यों को देखते हुए प्रशासनिक कमेटी ने उन्हें बैंक केंद्रीयकृत सेवा से बर्खास्त करने का फैसला लिया।

सुनील कुमार पुण्डीर उप महाप्रबन्धक जिला सहकारी बैंक लि. इटावा ने विभिन्न बैंकों का प्रभारी सचिव रहते हुए निर्धारित सीमा से अधिक ऋण नियम विरूद्ध तरीके से खुद के लिए स्वीकृत किया। यह ऋण जिला सहकारी बैंक लि. फिरोजाबाद, आगरा, मैनपुरी, बदायूं तथा मथुरा से लिया गया। पुण्डीर को दायित्वों के निर्वहन में फेल होने तथा संस्था के खाताधारकों के धन के दुरूपयोग करने के दोषी पाया गया है। इन्हें निलंबित किया गया है।

इसी क्रम में जिला सहकारी बैंक लि. उन्नाव में क्लास-फोर की भर्ती में अनियमितता और धांधली के आरोपों में वहां के सचिव, मुख्य कार्यपालक अधिकारी हरिश्चंद्र दीक्षित तथा उप महाप्रबंधक लक्ष्मी सुमन निगम के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई का फैसला हुआ है। जिला सहकारी बैंक लि. देवरिया के उप महाप्रबंधक, प्रभारी सचिव दीप नारायण यादव, जिला सहकारी बैंक लि. मुरादाबाद के सचिव, मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ. एसके शर्मा, जिला सहकारी बैंक सहारनपुर में उप महाप्रबंधक पद पर तैनाती के दौरान पवन कुमार शम्मी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई का फैसला हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:co-operative