अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाराबंकी में सीएम योगी बोले- हर बाढ़ पीड़ित के साथ सरकार की संवेदना

1 / 2

2 / 2

PreviousNext

हम बाढ़ पीड़ितों को समय पर राहत पहुंचाने पर फोकस कर रहे हैं। जिलों में मंत्रीगणों को इसके लिए सक्रिय किया गया है। आज बिना भेदभाव के बाढ़ पीड़ितों को राहत पहुंचाई जा रही है। उक्त बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को दरियाबाद विधानसभा क्षेत्र के जेबीएस महाविद्यालय दुलहेपुर में बाढ़ राहत सामग्री वितरण कार्यक्रम में कहीं।

मुख्यमंत्री ने पूर्व की सरकारों पर तीखा वार करते हुए कहा कि पहले मदद देने के नाम पर पहले केवल औपचारिकता निभाई जाती थी। दो-चार किलो की राहत देकर कोरम पूरा किया जाता था मगर जब से प्रदेश में भाजपा की सरकार आई है बाढ़ पीड़ितों को समय पर राहत पहुंचाने का काम जारी है। 10 किलो आटा, 10 किलो चावल, 10 किलो आलू, दाल, नमक, मिर्च मसाला, तेल व दियासलाई दी जा रही है। हमने बाढ़ पीड़ितों के लिए एक बड़ा पैकेज तैयार किया है।
बस्ती और गोंडा के बाद दोपहर करीब सवा एक बजे हेलीकाप्टर से दुलहदेपुर पहुंचे योगी यहां करीब 20 मिनट ही रूके। भीषण गर्मी के दौरान यहां सुबह से ही लोगों का पहुंचना जारी हो गया था। मंच पर आते ही योगी ने कहा कि वे स्वयं बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण कर रहे है। पार्टी के सांसद, विधायकगण के साथ जिला प्रशासन के लोग भी बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए लगे है।

बाढ़ के स्थायी निदान के लिए काम कर रही सरकार

सीएम योगी ने कहा कि हर बाढ़ पीड़ित के साथ सरकार संवेदना है। इसलिए एक एक बाढ़ पीड़ित को राहत पहुंचाने का काम युद्धस्तर पर जारी है। मै खुद राहत वितरण का लगातार निरीक्षण कर रहा हूं। सीएम ने कहा कि बाढ़ से स्थायी निदान के लिए हमारी सरकार काम कर रही है।

बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री बांटी

जेबीएस कालेज परिसर में हुए कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी ने यहां पर बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री बांटी। रामदीन नाम के बाढ़ पीड़ित समेत आधा दर्जन लोगों को सामग्री देने के बाद योगी ज्यादा देर नहीं रुके और सीतापुर के लिए रवाना हो गए।

सीएम ने प्रभारी मंत्री की तारीफ की

अपने संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिले के प्रभारी दारा सिंह चौहान की तारीफ की। कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में श्री चौहान पिछले दो दिनों से डेरा डाले हैं। सीएम ने सभी से भी बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद की अपील की।

 विधायक ने रखी गई मांगें, मुस्कुराते रहे सीएम

कार्यक्रम शुरू हुआ तो सबसे पहले क्षेत्रीय विधायक सतीशचन्द्र शर्मा को स्वागत संबोधन के लिए बुलाया गया। माइक संभालते ही विधायक श्री शर्मा ने पहले सीएम का अभिनंदन किया और फिर सीएम योगी के सामने एक के बाद एक कई मांगें रख दीं। श्री शर्मा ने कहा कि उनके दरियाबाद विधानसभा क्षेत्र के चार गांव परसवाल, कमियार, असवा व बांसगांव बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित है। ये पानी से घिरे है। इन गांवों को बाढ़ से बचाने के विशेष इंतजाम हो। कहा कि इन गांव के लोगों को अगर दूसरे गांव में भी पट्टा दिया जाय तो बेहतर होगा। पट्टे की जमीन पर पीएम आवास बनाकर इन्हें राहत दी जाय। पुल की मांग करते हुए विधायक ने कहा कि पानी निकासी के लिए संयत्र की स्थापना की जाय। टिकैतनगर पंचायत के विकास के लिए विशेष पैकेज देने व रामसनेहीघाट तहसील मुख्यालय को नगर पंचायत का दर्जा देने की मांग की। इस दौरान सीएम योगी मांगों को ध्यान से सुनकर मुस्कुराते रहे। विधायक ने इतने पर ही बस नहीं किया। उन्होंने सीएम को बाद में मांगपत्र लिखित रूप से भी दिया। अपने संबोधन के दौरान सीएम ने यह कहकर उम्मीद जगा दी कि जो प्रस्ताव दिए गए है उन पर काम होगा।

मौजूद रहे प्रभारी मंत्री व सांसद

कार्यक्रम में प्रभारी मंत्री दारा सिंह चौहान, क्षेत्रीय सांसद लल्लू सिंह, विधायक बैजनाथ रावत, विधायक शरद अवस्थी, विधायक साकेन्द्र वर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष अवधेश श्रीवास्तव, जेबीएस कालेज के प्रबंधक अंगद सिंह, टिकैतनगर नगर पंचायत के चेयरमैन जगदीश गुप्ता, भाजपा नेता अनरूद्ध प्रताप सिंह सोनू, डीआईजी ओंकार सिंह, डीएम उदयभानु त्रिपाठी, एसपी वीपी श्रीवास्तव समेत तमाम भाजपा नेता, पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CM Yogi said in Barabanki - Government condolences with every flood victim