अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आरटीई के तहत गरीब बच्चों को निजी स्कूल में प्रवेश - पहले चरण में प्रवेश नहीं मिला तो दोबारा आवेदन कर सकेंगे

-पहले चरण में प्रवेश नहीं मिला तो दोबारा आवेदन कर सकेंगे बच्चे

प्रमुख संवाददाता-राज्य मुख्यालय

प्रदेश में निजी स्कूलों में गरीब बच्चों के प्रवेश में पारदर्शिता के चलते पहली बार ऑनलाइन लॉटरी निकाली गई। इस लॉटरी के बाद जिन बच्चों को स्कूल का आवंटन नहीं होगा वे दोबारा आवेदन कर सकते हैं।

आरटीई एक्ट के तहत निजी स्कूलों में कक्षा एक में 25 फीसदी सीटें गरीब बच्चों के लिए आरक्षित हैं। पहला चरण पूरा हो रहा है वहीं अभी तीन चरण बाकी हैं। पहले चरण में यदि बच्चे को अपने मनचाहे स्कूलों में प्रवेश नहीं मिला तो वे दूसरे स्कूलों के विकल्प के साथ आवेदन कर सकते हैं। प्रदेश सरकार ने इस बार गरीब बच्चों से ऑनलाइन आवेदन लिए हैं। इसके लिए लॉटरी भी ऑनलाइन ही निकाली गई है। पहले चरण की लॉटरी हर जिले में अलग-अलग निकाली जा रही है। पहले चरण के प्रवेश के लिए लॉटरी निकल चुकी है। वहीं प्रवेश पूरे किए जा रहे हैं। यदि कोई स्कूल सूची में आए बच्चे को प्रवेश नहीं देता तो उसे पोर्टल पर उसका कारण भी लिखना पड़ेगा। किसी भी प्रक्रिया के लिए ऑफलाइन गुंजाइश नहीं छोड़ी गई है।

इस बार चरणबद्ध तरीके से प्रवेश हो रहे हैं। दूसरे चरण में 16 मार्च से 15 अप्रैल तक आवेदन लिए जाएंगे और 25 अप्रैल को लॉटरी होगी। तीसरे चरण में 16 अप्रैल से 10 मई तक आवेदन होगा और 15 मई को लाटरी होगी। चौथे चरण में 11 मई से 15 जून तक आवेदन किए जा सकेंगे जिसके लिए 25 जून को लॉटरी निकाली जाएगी। प्रवेश के लिए दो दिन का समय दिया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:children will be able to apply again under RTI