DA Image
24 नवंबर, 2020|9:39|IST

अगली स्टोरी

आयुष्मान भारत योजना के अनुसार सूचीबद्ध अस्पताल तैयारी करें

मुख्य सचिव डा. अनूप चन्द्र पांडेय ने निर्देश दिए हैं कि आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत सूचीबद्ध अस्पतालों को हर दशा में लाभार्थी मरीजों को भर्ती करने और योजना के अनुरूप मुफ्त इलाज उपलब्ध कराने के लिए तैयार करा दिया जाए।

मुख्य सचिव शुक्रवार को योजना को जमीन पर तेजी से उतारने के लिए विभागीय अफसरों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में उपयुक्त स्थान पर क्योस्क तथा निर्धारित आईटी उपकरण के साथ पीओएस स्थापित करा दिये जाएं, जहां लाभार्थी मरीजों की पहचान एवं भर्ती की औपचारिकताएं समय से पूरी हो सकें। डा. पांडेय ने कहा कि प्रत्येक सूचीबद्ध अस्पताल में आरोग्य मित्र चयनित एवं नामित कराने के फलस्वरूप उनको जरूरी ट्रेनिंग देने के काम में तेजी लाई जाए। उन्होंने कहा कि सूचीबद्ध सरकारी अस्पतालों में आयुष्मान भारत लाभार्थियों को भर्ती कराने के लिए अलग वार्ड या बेड की व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराई जाएं। मुख्य सचिव ने यह भी निर्देश दिए कि अस्पतालों, जिलाधिकारी कार्यालय, कचहरी, बस स्टैण्ड आदि सार्वजनिक स्थानों पर लोगों को योजना से संबंधित बेहतर जानकारी उपलब्ध कराने के लिए होर्डिंग्स, बैनर आदि लगवाए जाएं। उन्होंने कहा कि अनेक जनपदों में सूचीबद्ध अस्पतालों की संख्या अपर्याप्त होने के मद्देनजर आसपास के जनपदों के मेडिकल कालेज तथा सुपर स्पेशियलिटी अस्पतालों को सूचीबद्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि जिन अस्पतालों में आन लाइन आवेदन डिस्ट्रिक्ट इम्पैनल कमेटी के स्तर पर लम्बित हैं, उन्हें सत्यापन के बाद स्टेट इम्पैनलमेंट कमेटी भेज दिया जाए। प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य प्रशांत त्रिवेदी ने बताया कि विगत 23 सितम्बर, 2018 से योजना के शुभारम्भ के परिप्रेक्ष्य में सभी सूचीबद्ध अस्पतालों को योजना के मुताबिक बनाया जा रहा है। योजना का प्रचार प्रसार भी कराया जा रहा है, जिससे योजना का लाभ लेने के लिए लोगों का आना शुरू हो गया है।