DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › लखनऊ › यूपी में अगली जनगणना का काम छह अगस्त से
लखनऊ

यूपी में अगली जनगणना का काम छह अगस्त से

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Newswrap
Thu, 01 Aug 2019 05:26 PM
यूपी में अगली जनगणना का काम छह अगस्त से

उत्तर प्रदेश में अगली जनगणना का काम छह अगस्त से शुरू हो रहा है। 12 अगस्त से 30 सितम्बर के बीच प्रदेश के शहरी इलाकों में लखनऊ नगर निगम और ग्रामीण क्षेत्रों में हाथरस की तहसील सासनी और महोबा की चरखारी में इस जनगणना का प्री टेस्ट चलेगा। इन तीनों स्थानों को कुल 825 गणना ब्लाक में बांटा गया है।

एक गणनाखंड में 750 से 800 लोगों की आबादी को रखा गया है। इस हिसाब से 825 गणनाकारों का जनगणना प्रशिक्षण का काम छह से नौ अगस्त तक चलेगा। इसमें मास्टर ट्रेनर गणनाकारों को जनगणना की तकनीक से बताएंगे। यह प्री टेस्ट एक तरह से अप्रैल 2020 में शुरू हो रही जनगणना का रिहर्सल है। जिसमें यह देखा जाएगा कि लोगों का किन सवालों पर कैसा जवाब मिलता है। इसमें पहली बार मोबाइल एप पर सवालों के जवाब लिये जाने हैं। इस प्री टेस्ट में मकान अनुसूचीकरण एवं मकान गणना अनुसूची में 34 सवाल पूछे जाएंगे। इनमें भवन संख्या, मकान बनवाने में लगी सामग्री, परिवार के मुखिया का नाम, पेयजल का स्रोत, प्रकाश का मुख्य स्रोत, गंदे पानी की निकासी, रसोईघर की उपलब्धता, रेडियो-ट्रांजिस्टर, कम्प्यूटर, लैपटाप की उपलब्धता आदि से जुड़े सवाल पूछे जाएंगे। दूसरे चरण में परिवार अनुसूची में आपका नाम, मुखिया से सम्बंध, जन्मतिथि एवं आयु, वर्तमान वैवाहिक स्थिति, विवाह के समय आयु, धर्म, एससी/एसटी का ब्यौरा, मातृभाषा, साक्षरता, शैक्षिक स्थिति, कामकाज आदि से जुड़े सवाल होंगे। इस प्री टेस्ट से मिले निष्कर्षों के आधार पर ही मूल जनगणना की रणनीति में आवश्यक बदलाव भी किये जाएंगे।मोबाइल भत्ता मिलेगा : जनगणना महानिदेशालय ने इस बार की जगनणना में लगने वाले सभी गणनाकारों को मोबाइल एप पर आंकड़े संकलित कराने की तैयारी की है। इसके लिए हर गणनाकार को 6000 रुपये मोबाइल भत्ता भी मिलेगा। प्रदेश के जनगणना निदेशक नरेन्द्र शंकर पाण्डेय और उनकी टीम ने पिछले दिनों इस प्री टेस्ट के लिए लखनऊ नगर निगम, महोबा और हाथरस के अधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग करके तैयारियों की समीक्षा भी की।

संबंधित खबरें