Bulldozer again at kalicharan degree college shops - कालीचरण डिग्री कालेज की दुकानों पर फिर चला बुलडोजर DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कालीचरण डिग्री कालेज की दुकानों पर फिर चला बुलडोजर

default image

लखनऊ। प्रमुख संवाददाता

कालीचरण डिग्री कालेज के बाहर दुकानों के सामने हुआ अतिक्रमण हटाने के लिए शनिवार को फिर बुलडोजर चला। बच गईं 14 दुकानों को अवैध कब्जा भी ढहा दिया गया। हालांकि, दूसरे दिन किसी ने अभियान का विरोध नहीं किया लेकिन नाराजगी बहुत ज्यादा थी। सबसे ज्यादा नाराजगी नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन के खिलाफ दिखाई दी। कहते नजर आए कि उन्हीं के इशारे पर दुकानें धराशायी की गई हैं।

कालीचरण डिग्री कालेज की चहार दीवारी से सटकर कुल 29 दुकानें हैं। सभी दुकानों का आवंटन कालीचरण ट्रस्ट से हुआ है। सभी को बीस-बीस फुट दुकानें आवंटित की गई थीं। लेकिन लोगों ने बीस फुट तक अतिक्रमण कर के पक्का निर्माण कर लिया था। शुक्रवार को हंगामे के बीच 15 दुकानों का अतिक्रमण वाला हिस्सा धाराशायी कर दिया गया था। शनिवार को नगर निगम की टीम जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ फिर पहुंची। 14 दुकानें के सामने लगभग दस फुट तक सड़क पर अतिक्रण को हटा दिया गया है।

नगर निगम की कार्रवाई पर उठाया सवाल

दुकानदारों ने नगर निगम की कार्रवाई पर सवाल उठाया है। भाजपा महानगर के पूर्व उपाध्यक्ष विपिन अवस्थी की भी एक दुकान है। उन्होंने कार्रवाई का कड़ा विरोध किया था। उनका कहना है कि ट्रस्ट ने बीस फुट दुकान व दस फुट टीन शेड आवंटित किया है। इससे ज्यादा जिसने अवैध कब्जा किया था उसे हटाना था लेकिन नगर निगम व जिला प्रशासन ने कोई सुनवाई किए बिना टीन शेड को भी तोड़ दिया। अधिकारियों को ट्रस्ट की रसीद भी दिखाई गई लेकिन ऐसा लगा जैसे किसी खुन्नस में अभियान चलाया जा रहा है। अन्य दुकानदारों ने कहा कि नगर निगम ने अतिक्रमण हटाने के लिए 15 अक्टूबर तक का समय दिया था। लेकिन उससे पहले ही कार्रवाई शुरू कर दी। सामान हटाने तक का समय नहीं दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bulldozer again at kalicharan degree college shops