DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  लखनऊ  ›  पोस्ट कोविड मरीजों में अवसाद के कारण पर मंथन
लखनऊ

पोस्ट कोविड मरीजों में अवसाद के कारण पर मंथन

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:10 PM
पोस्ट कोविड मरीजों में अवसाद के कारण पर मंथन

शोध

-पीजीआई स्थित सेंटर फॉर बायो मेडिकल रिसर्च सेंटर (सीबीएमआर) के डॉक्टर कर रहे यह अध्ययन

अब तक ऐसे सात मरीजों का डॉक्टर कर चुके हैं एमआरआई

लखनऊ। संवाददाता

राजधानी के वैज्ञानिकों ने कोरोना से ठीक हुए लोगों के स्वभाव में आ रहे बदलाव और अवसाद के कारणों का पता लगाने के लिए शोध शुरू किया है। वैज्ञानिक पोस्ट कोविड मरीजों के एमआरआई का अध्ययन करके पता लगा रहे हैं कि कोरोना वायरस की वजह से इनके दिमाग में किस तरह के परिवर्तन हुए हैं जिससे इनके स्वभाव में बदलाव हुआ है। यह शोध पीजीआई स्थित सेंटर फॉर बायो मेडिकल रिसर्च (सीबीएमआर) के निदेशक डॉ. आलोक धवन के निर्देशन में डॉ. उत्तम कुमार की टीम ने शुरू किया है।

शोध में हर उम्र के लोग शामिल

संस्थान के डायरेक्टर डॉ. आलोक धवन बताते हैं कि शोध में पीजीआई, केजीएमयू व लोहिया संस्थान की पोस्ट कोविड ओपीडी में आने वाले हर उम्र मरीजों को शामिल किया गया है। इनमें कोरोना से ठीक होने के बाद उनके व्यवहार में कई तरह के बदलाव आ रहे हैं जिसमें चिड़चिड़ापन, अवसाद, सिर दर्द, तनाव व भूलने की समस्या आदि है।

वैज्ञानिक कारण तलाश रहे

सीबीएमआर के वैज्ञानिक डॉ. उत्तम कुमार बताते हैं कि शोध में शामिल पोस्ट कोविड मरीज व सामान्य लोगों की कॉउंसलिंग व सिर की फंक्शनल एमआरआई करके दिमाग के भीतर वायरस की वजह से हुए बदलाव पर मंथन कर रहे हैं। एमआरआई के स्कोर के हिसाब से डाटा का आंकलन करके स्वभाव में आये बदलाव की वजह तलाश रहे हैं। अभी तक सात मरीजों का एमआरआई हो चुका है।

संबंधित खबरें