अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पोस्टमार्टम के लिए खुदवाया गया ऑपरेशन में मौत का शिकार हुए किशोर का शव 

कोइरीपुर कस्बे में एक झोलाछाप डाक्टर के आपरेशन के दौरान किशोर की मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। घटना के दूसरे दिन परिजनों ने डाक्टर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के लिए थाना का घेराव किया। वहीं दबाव में आई पुलिस ने शव को खुदवा कर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाने की कार्रवाई शुरू कर दी है।
चांदा कोतवाली क्षेत्र के नगर पंचायत कोइरीपुर के आर्यनगर मोहल्ला स्थित संतोष कौशल के मकान में एक डाक्टर ने रीता चिकित्सालय के नाम से क्लीनिक खोला है। मंगलवार को दोपहर में प्रतापगढ़ जिले के आसपुर देवसरा थाना क्षेत्र के सोनपुर गांव निवासी जितेन्द्र कुमार अपने 14 वर्षीय बेटे को हुए फोड़े का इलाज कराने आया था। क्लीनिक चलाने वाले झोलाछाप डाक्टर ने आपरेशन शुरू कर दिया। डाक्टर ने किशोर को बेहोशी का इंजेक्शन लगाया। इसके बाद किशोर की अचानक हालत बिगड़ गई। परिवारीजन किशोर को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे। जहां पर सीएचसी प्रभारी ने उसे मृत घोषित कर दिया। किशोर की मौत के बाद डॉक्टर क्लीनिक बंद कर फरार हो गया। परिजन थाना पहुंचे लेकिन उन्हें वहां से भी मदद नहीं मिली। इसके बाद परिजन शव लेकर घर चले गए और उसे दफना दिया। 
थाना पहुंचे ग्रामीण : बुधवार को एक बार फिर ग्रामीणों ने क्लीनिक चलाने वाले डॉक्टर पर केस दर्ज करने के लिए दबाव बनाना शुरू किया। पुलिस ने भीड़ को देखते हुए मामले को संज्ञान में लिया और शव को खुदवाकर पोस्टमार्टम करवाए जाने व डॉक्टर के खिलाफ केस दर्ज करने की कार्रवाई शुरू हो चुकी है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Body of the victim who was killed in an operation conducted for postmortem