अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेडिकल छात्रों के काम आएगी देह

- सेवानिवृत्त शिक्षिका व बुजुर्ग व्यापारी का हुआ देहदान लखनऊ। निज संवाददाता राजधानी के दो बुजुर्गों की देहदान की गई है। दोनों लोगों की देह अब मेडिकल छात्रों की पढ़ाई में काम आएगी। इनमें एक सेवानिवृत्त शिक्षिका थीं, जबकि दूसरे बुजुर्ग व्यापारी थे। दोनों लोगों की बेटियों ने परिवारीजनों के साथ केजीएमयू में जाकर देहदान की प्रक्रिया पूरी की। इन्दिरा नगर निवासी सत्यप्रभा त्रिपाठी (86) सेवानिवृत्त शिक्षिका थी। उनका इलाज लोहिया अस्पताल में चल रहा था। सोमवार को उनकी मौत हो गई। उन्होंने 19 जुलाई को देहदान के लिए पंजीकरण कराया था। उनकी बेटी रश्मि अरविंद ने केजीएमयू में सोमावर को पहुंचकर देहदान किया है। वहीं, गोमती नगर के विनम्र खंड 3/163 निवासी देवराज शर्मा (80) व्यापारी थे। उनका इलाज लोहिया संस्थान में चल रहा था। उनकी मौत रविवार को हुई थी। उन्होंने देहदान के लिए 15 नवंबर, 2015 को पंजीकरण कराया था। उनकी बेटी रीता शर्मा ने केजीएमयू में पहुंचकर पिता की देहदान की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:body donation