DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  लखनऊ  ›  दूसरे दिन भी नहीं मिली ब्लैक फंगस की दवा और इंजेक्शन

लखनऊदूसरे दिन भी नहीं मिली ब्लैक फंगस की दवा और इंजेक्शन

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:01 AM
दूसरे दिन भी नहीं मिली ब्लैक फंगस की दवा और इंजेक्शन

लखनऊ। वरिष्ठ संवाददाता

ब्लैक फंगस मरीजों की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। अफसर मरीजों को दवाएं मुहैया कराने में पूरी तरह से फेल हैं। सोमवार को रेडक्रास सोसाइटी में एक भी इंजेक्शन की आपूर्ति नहीं हुई। नतीजतन, लंबी चौड़ी प्रक्रिया पूरी करने के बाद भी मरीजों को दवा नहीं मिली। नाराज मरीजों ने दूसरे दिन भी हंगामा किया। वहीं दूसरी ओर दवा न मिलने से मरीजों की जान सांसत में है।

राजधानी के सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों में बड़ी संख्या में ब्लैक फंगस के मरीज भर्ती हैं। प्रदेश भर से मरीज राजधानी के अस्पतालों में भेजे जा रहे हैं। वहीं मरीजों को समुचित इलाज नहीं मिल पा रहा है। बदहाल इंतजामों का खामियाजा बेबस मरीजों को भुगतना पड़ रहा है। मरीज अस्पतालों में तड़प रहे हैं। उन्हें इलाज में इस्तेमाल होने वाला इंजेक्शन नहीं मिल रहा है। तीमारदार शासन के आदेश के अनुसार प्रक्रिया पूरी कर दवा लेने कैसरबाग स्थित रेडक्रास सोसाइटी के दफ्तर पहुंच रहे हैं। वहां उन्हें निराशा हाथ लग रही है।

40 से ज्यादा मरीज बिना दवा लौटे

तीमारदार श्रेयश वाजपेई के मुताबिक उनकी पत्नी ब्लैक फंगस की चपेट में आ गई हैं। उनका इलाज सिप्स अस्पताल में चल रहा है। डॉक्टर ने लाइपोसोमल एम्फोटेरीसीन-बी इंजेक्शन की जरूरत बताई है। एक दिन में कागजी कार्रवाई पूरी हुई। दूसरे दिन यानी सोमवार को दवा लेने पहुंचे। इसके बावजूद रेडक्रास से दवा नहीं मिली। सीएमओ दफ्तर भी गया। वहां से भी वाजिब जवाब नहीं मिला। इसी तरह 40 से ज्यादा मरीजों को ब्लैक फंगस की दवा नहीं मिली है। दवा न मिलने से नाराज तीमारदारों ने हंगामा किया।

बिना दवा मरीज की सेहत दांव पर

डॉक्टरों के मुताबिक ब्लैक फंगस मरीजों के इलाज में लाइपोसोमल एम्फोटेरीसीन-बी इंजेक्शन अहम है। इसके स्थान पर दूसरी दवाएं दी जा रही है। जोकि कारगर नहीं है। ऐसे में मरीजों की सेहत दांव पर है। अस्पतालों में मरीज समुचित इलाज के तड़प रहे हैं। तीमारदार अपनो की जान बचाने की जद्दोजहद में भटक रहे हैं। उनकी कहीं भी सुनवाई नहीं हो पा रही है।

संबंधित खबरें