ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश लखनऊभाजपा संविधान को बदल कर आरक्षण खत्म करना चाहती: सपा

भाजपा संविधान को बदल कर आरक्षण खत्म करना चाहती: सपा

- संविधान विरोधी काम कर रही भाजपा लखनऊ- विशेष संवाददाता समाजवादी पार्टी ने

भाजपा संविधान को बदल कर आरक्षण खत्म करना चाहती: सपा
हिन्दुस्तान टीम,लखनऊWed, 17 Apr 2024 07:00 PM
ऐप पर पढ़ें

- संविधान विरोधी काम कर रही भाजपा

लखनऊ- विशेष संवाददाता

समाजवादी पार्टी ने अरोप लगाते हुए कहा है कि भाजपा की नीयत ठीक नहीं है। वह डा. भीमराव अंबेडकर के बनाए संविधान को बदल कर पिछड़े, दलितों, अल्पसंख्यकों, आदिवासियों और महिलाओं के अधिकारों को छीनना चाहती है। समाजवादी पार्टी भाजपा की संविधान और लोकतंत्र विरोधी नीतियों के खिलाफ लगातार लड़ाई लड़ती रही है।

सपा के राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी ने बुधवार को जारी बयान में कहा है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनाव को लेकर घोषित जनता का मांग पत्र हमारा अधिकार में वादा किया है कि उसके संवैधानिक अधिकार को सुरक्षित और मजबूत करेंगे। समाजवादी पार्टी लोकतंत्र की रक्षा करेगी। मीडिया को आजादी का अधिकार देगी। लोकतांत्रिक संस्थाओं की स्वतंत्रता व स्वायत्तता बहाल करेगी। सभी को न्याय और समानता का अधिकार देगी।

उन्होंने कहा कि देश आज जिन हालात से गुजर रहा है, उसमें संविधान में दिए गए मौलिक अधिकारों पर भी संकट मंडरा रहा है। अभिव्यक्ति की आजादी कुचलने की हरचंद कोशिशें हो रही है। संवैधानिक संस्थाएं कमजोर की जा रही है। संविधान में दलितों, वंचितों के लिए आरक्षण की जो व्यवस्था है, उसको भी समाप्त करने की साजिशें हो रही है। जनता महंगाई, भ्रष्टाचार से त्रस्त है। जनता चाहती है कि संविधान की मर्यादा कायम रहे। लोगों का उत्पीड़न न हो। सरकारी ईडी, सीबीआई और आईटी की दहशत से लोगों को निजात मिले।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।