अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिन्दुत्व के एजेंडे को और धार देने की तैयारी में भाजपा

भारतीय जनता पार्टी ने दो दिवसीय कार्य समिति में दलित और पिछड़ों के हितों की तो बात की लेकिन अपने एजेंडे में सबसे ऊपर हिन्दुत्व को रखा। जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने सावन माह में कांवरियों को पूरी आजादी के साथ अपनी धार्मिक यात्रा को करने की बात कही, तो वहीं केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एनआरसी के मसले पर 40 लाख बांग्लादेशियों को चिह्नित करने का मुद्दा उठाया।

वहीं रविवार को कार्य समिति की बैठक का समापन करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने घुसपैठियों के मामले में काफी आक्रामक रुख अपनाया। उन्होंने पूरे देश से घुसपैठियों को चुन-चुनकर बाहर करने की बात कही तो पकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका व अन्य पड़ोसी देशों के हिन्दू, सिख, पंजाबी, बौद्ध और ईसाई शरणार्थियों को देश में लाने की बात भी जोरदार तरीके से उठाई।

सांसद-विधायक भाजपा सरकार के काम जनता को बताएं

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी के सांसदों और विधायकों से कहा कि उत्तर प्रदेश में सुशासन की राजनीति देने के लिए हमारी सरकार का गठन हुआ है। उन्होंने कहा कि योगी सरकार ने कानून व्यवस्था से लेकर विकास और किसानों को राहत देने तक सभी मामलों में बड़ा काम किया है। उन्होंने कहा कि सभी सांसदों और विधायकों को अपने क्षेत्र में सरकार की किसानों के हित में लिए गए निर्णयों तथा उनसे जुड़ी योजनाओं पर लोगों से संवाद और चर्चा करनी चाहिए। जिससे वे हमारी सरकार की योजनाओं से अवगत हो सकें। केंद्र सरकार ने कोई कमी उत्तर प्रदेश के विकास में नहीं छोड़ी है। यही वजह है कि आज पश्चिमी उत्तर प्रदेश से पलायन रुक गया है। कानून व्यवस्था के मोर्चे पर आज प्रदेश की स्थिति में अभूतपूर्व सुधार हुआ है।

रिस्क नहीं लेना है, हर सीट पर मुकाबला

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रदेश कार्य समिति की बैठकों में राष्ट्रीय अध्यक्ष का कम ही आना होता है, लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की सरकार आने के बाद लखनऊ, कानपुर और फिर मेरठ में हुई कार्य समिति में राष्ट्रीय अध्यक्ष पहुंचे। उन्होंने पूरा समय भी दिया। यूपी में लोकसभा की 80 सीटों में 73 सीटें भाजपा और सहयोगी दलों की हैं। भाजपा किसी भी प्रकार का रिस्क नहीं लेना चाहती है। अमित शाह यूपी की हर सीट पर मुकाबला मान रहे हैं, इसलिए वह यूपी में इतना समय दे रहे हैं ताकि कार्यकर्ताओं का जोश बना रहे।

जहां तक दलितों और पिछड़ों को लोकसभा 2019 के चुनाव में एकजुट करने की बात है तो सीएम योगी आदित्य नाथ ने केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री आवास योजना, उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त गैस कनेक्शन, बिजली के मुफ्त कनेक्शन देने का हवाला दिया। कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम विवि में दलितों और पिछड़ों को आरक्षण देने के मामले में सपा और बसपा चुप क्यों हैं? पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने पर केंद्र सरकार की तारीफ की। श्री योगी ने यह जताने की कोशिश की कि विपक्ष के दलित विरोधी आरोपों में कोई दम नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:BJP in preparation for further sharpening the agenda of Hindutva