DA Image
25 फरवरी, 2020|6:06|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पिछड़ा वर्ग विरोधी है प्रदेश की भाजपा सरकार: जनाधिकारी मोर्चा

default image

प्रदेश के सात छोटे दलों को एक मंच पर खड़ा करने वाले भागीदारी संकल्प मोर्चा के नेता ओम प्रकाश राजभर और बाबू सिंह कुशवाहा ने प्रदेश सरकार पर पिछड़ा वर्ग का विरोधी होने का आरोप मढ़ा है। नेताद्वय ने कहा है कि पिछड़ों को जोड़कर राज्य से लेकर राष्ट्र स्तर पर राजनीति करने वाली भाजपा ने राम जन्मभूमि ट्रस्ट में एक भी सदस्य पिछड़ा वर्ग से नहीं दिया है।

शनिवार को जनाधिकारी पार्टी कार्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में राजभर और कुशवाहा ने कहा कि प्रदेश की 38 फीसदी अति पिछड़ी जातियां ही प्रदेश में किसकी सरकार होगी यह तय करती हैं। यह अति पिछड़ा वर्ग अब उनके साथ है। इसी कड़ी में रामकरन कश्यप की अध्यक्षता वाली भारतीय वंचित समाज पार्टी भी अब मोर्चा में शामिल हुआ है। दावा किया कि चुनाव होने पर भाजपा अब बिहार और यूपी की सत्ता से भी बाहर होगी। उनका मोर्चा प्रदेश में भाजपा, सपा, बसपा के मजबूत विकल्प के रूप में जनता के सामने है।

आरोप लगाया कि भाजपा सरकार दलितों और पिछड़ों को उनके अधिकार से वंचित कर रही है। महत्वपूर्ण पदों पर इस वर्ग को तैनाती नहीं दी जा रही है। यहां तक कि पिछड़े वर्ग के छात्रों की शुल्क प्रतिपूर्ति में भी भेदभाव किया जा रहा है। चालू वित्तीय वर्ष में सामान्य वर्ग के छात्रों की संख्या सात लाख तथा पिछड़ा वर्ग के छात्रों की संख्या 21 लाख है। शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए सामान्य वर्ग के लिए 609 करोड़ और पिछड़ा वर्ग के लिए 600 करोड़ करोड़ आवंटित किया गया है।

ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि अब मुख्यमंत्री भी यह बोलने लगे हैं कि अधिकारी मंत्रियों को बाईपास कर फाइलें उनके पास भेज रहे हैं। मंत्री रहते हुए जब उन्होंने यह मुद्दा उठाया था तब कोई ध्यान नहीं दिया गया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:BJP government of the state is anti-backward class Janadhikari Morcha