अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेनतीजा रही बरेलवी ओलमा की अयोध्या पर बैठक

विशेष संवाददाता-राज्य मुख्यालयअयोध्या के मंदिर-मस्जिद विवाद का अदालत से बाहर आपसी सुलह-समझौते से समाधान निकलवाने के लिए आम राय बनाने को बुधवार को लखनऊ के ठाकुरंगज इलाके में बरेलवी ओलमा की एक अहम बैठक हुई। बरेलवी विचारधारा के मुसलमानों के धर्मगुरु मौलाना तौकीर रजा खां के आमंत्रण पर हुई इस बैठक का फिलहाल कोई नतीजा नहीं निकला।मौलाना तौकीर रजा के प्रवक्ता डा.नफीस खां ने बताया कि अगली बैठक दिल्ली में एक महीने के भीतर बुलाई जाएगी, जिसमें देश के विभिन्न हिस्सों से बरेलवी ओलमा शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि बुधवार को हुई बैठक में महाराष्ट्र, हैदराबाद, कश्मीर आदि देश के विभिन्न हिस्सों से ओलमा शामिल नहीं हो सके क्योंकि यह बैठक महज दो दिन के नोटिस पर बुलाई गई थी। फिर भी इस बैठक में बरेलवी के अलावा प्रदेश के विभिन्न अंचलों से बरेलवी ओलमा शामिल हुए।बैठक को संबोधित करते हुए मौलाना तौकीर रजा ने कहा कि अयोध्या के मंदिर-मस्जिद विवाद से सीधे जुड़े पक्षकारों को आपस में बैठकर अदालत के बाहर इस विवाद को आपसी सुलह-समझौते से हल करने की पहल करनी चाहिए। यह विवाद सिर्फ यूपी का मुद्दा नहीं है बल्कि पूरे देश का मुद्दा है। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि अयोध्या के इस विवाद के चलते देश का भाईचारा और आपसी सौहार्द्र खराब न हो। अदालत के जरिये अगर अयोध्या विवाद का फैसला हुआ तो उसमें किसी एक पक्ष की हार होगी और किसी एक पक्ष की जीत इससे देश का माहौल खराब होने का अंदेशा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Barelvi