DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाराबंकी : बासी खाना खाने से फूड प्वायजनिंग,मासूम मरा, छह की हालत गंभीर

लापरवाही

मसौली कस्बे में शनिवार को खाना खाने के बाद बिगड़ी पूरे परिवार की हालत

पीड़ितों में मां के अलावा सभी भाई-बहन, इलाज जारी

मसौली (बाराबंकी)। हिन्दुस्तान संवाद

मसौली कस्बे में शनिवार रात में घर में बना खाना खाने के बाद एक के बाद एक घर के सदस्यों की हालत बिगड़ने लगी। इस दौरान उल्टी-दस्त से बेहाल सात साल के बच्चे की मौत हो गई। जबकि मां समेत उसके अन्य पांच बच्चों की हालत गंभीर है जिनका इलाज जारी है। मौके पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पाया कि घर के पास एक तालाब है जिसमें सीवर का पानी आता है।

कस्बे के मोहल्ला अहमद पुरवा (भुलीगंज) निवासी अशफाक के यहां शनिवार शाम को कटहल की सब्जी, उर्द की दाल व चावल बना था। जिसे उसके 6 बच्चों व पत्नी ने खाया था। देर रात सभी को एक के बाद एक उल्टी दस्त शुरू हो गए। इस पर घरेलू इलाज किया गया मगर हालात नहीं सुधरी। कुछ ही देर में अशफाक के सात साल के बच्चे अतीक की मौत हो गई। बच्चे की मौत से घर में कोहराम मच गया। इतना ही नहीं अशफाक की पत्नी सलीमुन (31) के साथ उसके पुत्र 6 वर्षीय अपशान, 12 वर्षीय जिशान, 9 वर्षीय शाहरूख, डेढ़ वर्षीय एतिशान, 14 वर्षीय उम्मेकुलसुम का भी उल्दी दस्त से बुरा हाल था। भोर होते होते मोहल्ले की आशा अंजुम ने दूरभाष से सीएचसी पर सूचना दी तो सीएचसी बड़ागांव के अधीक्षक डा. विनोद कुमार दोहरे ने अपनी टीम के साथ अशफाक के घर पहुंच कर सभी का इलाज शुरू किया। जिसमें जिशान की हालत ज्यादा ठीक न होने के कारण उसे सीएचसी बड़ागांव में भर्ती कराया गया है।

डाक्टर बोले, गंदगी बनी घटना का कारण : डा. विनोद कुमार दोहरे ने बताया है कि घटना फूड प्वायजनिंग का परिणाम है। उन्होंने बताया कि घर के पास तालाब है जिसमें मोहल्ले भर का गन्दा सीवर का पानी आता है। इतना ही नहीं घर के पास लगा हैण्डपम्प भी तालाब का गन्दा पानी उगल रहा है। जिसके कारण ऐसा हुआ है। टीम ने मौके पर पहुंच कर दवा का छिड़काव किया और हैंडपम्प का पानी न पीने की अपील की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Barabanki: Food poisoning, innocent dead, six condition of serious