अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

BJP के पूर्व पदाधिकारी को अमेठी में पकौड़ा की दुकान खोलने के लिए बैंकों ने नहीं दिया लोन

देश भर में पकौड़े को लेकर चल रही सियासत अमेठी तक पहुंच गई है। भाजपा के पदाधिकारी रहे एक युवक ने केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी व जिले के प्रभारी मंत्री मोहसिन रजा को पत्र भेज कर पकौड़े की दुकान खोलने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत ऋण दिलाए जाने की मांग की है। युवक का पत्र सामने आने के बाद अमेठी की सियासत गर्म हो गई है।
भाजपा आईटी विभाग की जिला टीम के सदस्य और अमेठी विधानसभा के भाजपा सोशल मीडिया के प्रमुख पद पर रह चुके अश्विन मिश्र ने कहा कि बेरोजगारी के चलते उसके माता-पिता उसके भविष्य को लेकर चिन्तित हैं। अमेठी को महज नाम का वीवीआईपी क्षेत्र बताते हुए अश्विन ने कहा है कि ना ही यहां उच्च स्तर की शिक्षा व्यवस्था है और ना ही कोई अच्छा रोजगार है।  
उन्होंने कुछ दिन पूर्व एक निजी चैनल पर दिए गए प्रधानमंत्री के इन्टरव्यू का जिक्र करते हुए कहा है कि पीएम का सुझाव उसे बेहद अच्छा लगा। पकौड़े की दुकान खोलने के लिए पैसे की कमी का हवाला देते हुए अश्विन ने कहा है कि वह प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत ऋण के लिए बैंकों के चक्कर लगाते-लगाते थक गया। लेकिन बैंकों द्वारा ऋण देने से मना कर दिया गया। जबकि कई मंत्री बोलते हैं कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 10 करोड़ युवाओं को ऋण दिया गया। वहीं अमेठी क्षेत्र के बेरोजगार युवा ऋण पाने के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। अमेठी में सक्रिय मंत्री द्वय के माध्यम से उसने प्रधानमंत्री से अमेठी के बैंकों से पकौड़ा रोजगार के लिए ऋण दिलवाए जाने की मांग की है। पत्र में अश्विन ने 27 फरवरी 2017 को भाजपा के आनुषांगिक संगठनों से त्याग पत्र देने की बात भी कही है। 

कागजी हैं सारी योजनाएं: योगेन्द्र मिश्र

कांग्रेस जिलाध्यक्ष योगेन्द्र मिश्र ने युवक के पत्र को लेकर केन्द्र सरकार पर हमला बोलते हुए गरीबों के लिए घोषित योजनाओं को महज कागजी बताया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार के लिए पांच हजार या पांच लाख का ऋण नहीं देती। बल्कि मोदी के करीबी उद्योगपतियों को पांच लाख करोड़ का ऋण दिया जाता है।

इच्छुक बेराजगारों को मिलेगा ऋण: पांडेय 

भाजपा जिलाध्यक्ष एड. उमाशंकर पांडेय  ने अश्विन मिश्र को कांग्रेस की तरह पकौड़ा राजनीति न करने की सलाह देते हुए कहा कि अगर उन्हें स्वरोजगार के लिए ऋण की आवश्यकता है तो वह उनसे मिलें। जो भी युवा मुद्रा योजना के तहत ऋण चाहते हैं उन्हें ऋण दिलवाया जाएगा। 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Banks have not given any permission to open shop of Pamoda in Amethi