AZam khan - आज़म का चुनाव रद्द करने के लिए दायर जया प्रदा की याचिका खारिज DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आज़म का चुनाव रद्द करने के लिए दायर जया प्रदा की याचिका खारिज

- आजम खान के संसद सदस्यता को चुनौती देने वाली जयाप्रदा की याचिका खारिज- चुनाव आयोग ने किया याचिका का पुरजोर विरोध-अमर सिंह बतौर अधिवक्ता हाईकोर्ट में हुए पेशविधि संवाददाता-लखनऊहाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने समाजवादी पार्टी के रामपुर से सांसद आजम खान की संसद सदस्यता को चुनौती देने वाली जयाप्रदा की याचिका शुक्रवार को खारिज कर दी। जयाप्रदा की ओर से राज्यसभा के पूर्व सांसद अमर सिंह ने बतौर वकील बहस की। अमर सिंह इससे पहले भी कई मामलों में बतौर वकील पेश हो चुके हैं।याचिका का विरोध करते हुए चुनाव आयोग की ओर से याचिका की पोषणीयता पर सवाल उठाए गए। न्यायमूर्ति राजन रॉय और न्यायमूर्ति एनके जौहरी की खंडपीठ ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद आदेश दिया। आदेश में कहा गया कि संविधान के तहत निर्वाचन को चुनौती निर्वाचन याचिका द्वारा ही दी जा सकती है जबकि वर्तमान याचिका एक रिट याचिका है जिसे संविधान के अनुच्छेद - 226 के तहत दाखिल की गई है। लिहाजा वर्तमान याचिका पोषणीय नहीं है। इसके साथ ही न्यायालय ने यह भी कहा कि निर्वाचन क्षेत्र रामपुर होने के कारण याचिका लखनऊ बेंच के अधिकार क्षेत्र में नहीं आती है। रामपुर का ज्यूरिशडिक्शन इलाहाबाद हाईकोर्ट के तहत आता है।गौरतलब है कि जय प्रदा ने आजम खां पर आरोप लगाए थे कि उन्होंने मौलाना अली जौहर विश्वविद्यालय रामपुर के चांसलर के पद पर रहते हुए लोकसभा का चुनाव लड़ा। नामांकन करने के वक्त वह चांसलर के पद थे। ऐसे में उन्होंने दोहरे लाभ का पद लिया लिहाजा उनकी संसद सदस्यता रद की जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:AZam khan