ayodhya - आध्यात्मिक विरासत का केन्द्र है अयोध्या : डा. शर्मा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आध्यात्मिक विरासत का केन्द्र है अयोध्या : डा. शर्मा

आयोजन

सरयू जयंती महोत्सव का किया शुभारम्भ

मां सरयू की आरती पूजन में भी शामिल हुए डिप्टी सीएम

अयोध्या | हिन्दुस्तान संवाद

ज्येष्ठ शुल्क द्वादशी पर शुक्रवार को प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने मां सरयू के आरती-पूजन के साथ चार दिवसीय सरयू जयंती महोत्सव का शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि अयोध्या भारत की आध्यात्मिक विरासत का केन्द्र है। प्रभु राम ने अपने लोकमंगल स्वरूप के माध्यम से सम्पूर्ण विश्व को मानवता का संदेश दिया। यही कारण है कि रामराज्य की आदर्श व्यवस्था का दूसरा कोई उदाहरण पूरी दुनिया में कहीं नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दीपोत्सव के माध्यम से रामराज्य के इसी आदर्श का संदेश पूरी दुनिया के समक्ष प्रकट करने का प्रयास किया।

उप मुख्यमंत्री डा. शर्मा ने कहा कि भारतीय संस्कृति समन्वय की संस्कृति है। यही कारण है कि हमारे ऋषि-मुनियों ने वसुधैव कुटुम्बकम के उद्घोष के साथ सम्पूर्ण प्रकृति के संरक्षण के लिए गौ और गंगा में मातृत्व भाव का दर्शन कर उन्हें गौ माता और गंगा माता के रूप में स्वीकार किया। उन्होंने कहा कि मां सरयू का अर्चन-वंदन हमारी परम्परा रही है। इसी परम्परा के अवगाहन के लिए हम सब यहां एकत्र हैं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि नमामि गंगे योजना के माध्यम से गंगा के साथ-साथ दूसरी नदियों को संरक्षित और स्वच्छ बनाने का अभियान चल रहा है। इसी कड़ी में सरयू के प्रदूषण को भी दूर करने की योजना पर काम हो रहा है।

अराजक तत्वों से सख्ती से निपटेगी सरकार

डिप्टी सीएम ने प्रदेश में कानून व्यवस्था पर लग रहे प्रश्नचिह्न के बाबत कहा कि राज्य सरकार कानून व्यवस्था को बिगाड़ने का प्रयास करने वाले अराजक तत्वों के साथ पूरी सख्ती से निपटेगी। उन्होंने कहा कि कानून को हाथ में लेने की इजाजत किसी को भी नहीं है और जहां कहीं भी अपराध की सूचनाएं मिली हैं, वहां त्वरित कार्रवाई की जा रही है। मुख्यमंत्री स्वयं भी इन सबकी निगरानी कर रहे हैं।

मनमानी फीस पर बोले समिति गठित की गई है

प्राइवेट स्कूलों में मनमानी फीस वसूली के सवाल पर उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी की अध्यक्षता में शुल्क नियामक समिति गठित की गयी है जो फीस की अनियमितता से सम्बन्धित शिकायतों की जांच कर आवश्यक कार्रवाई करेगी। डीआईओएस भी समिति के सदस्य हैं। उधर जयंती महोत्सव के अवसर पर आंजनेय सेवा संस्थान की ओर से संयोजक महंत शशिदास ने मुख्य अतिथि व उप मुख्यमंत्री डा. शर्मा का स्वागत स्मृति चिह्न भेंटकर किया। संचालन समिति के सचिव व भाजपा नेता अभिषेक मिश्र ने किया। वहीं डिप्टी सीएम डा. शर्मा ने गौ सेवक रीतेश मिश्र का अभिनंदन किया। इस महोत्सव में कौशलेश सदन पीठाधीश्वर जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी वासुदेवाचार्य, लक्ष्मण किलाधीश महंत मैथिली रमण शरण, रंगमहल पीठाधीश्वर महंत रामशरण दास, बड़ा भक्तमाल महंत अवधेश दास, प्रसिद्ध कथावाचक देवमुरारी बापू, महंत मनमोहन दास, महंत अवध बिहारी दास उर्फ अर्जुन दास, महंत अंजनी शरण, महंत किशोरी शरण, महंत रामानुज शरण, महंत लड्डू दास व मनीष दास सहित अन्य मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ayodhya