DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साहित्यकार सुशील सिद्धार्थ का शरीर पंचतत्व में विलीन

वरिष्ठ साहित्यकार सुशील सिद्धार्थ पंचतत्व में विलीन

श्रद्धांजलि

गोमती किनारे भैंसाकुंड पर हुआ अंतिम संस्कार

बड़ी संख्या में साहित्यकार, पत्रकार और रंगकर्मी रहे मौजूद

लखनऊ। वसं

वरिष्ठ साहित्यकार सुशील सिद्धार्थ का रविवार को गोमती किनारे भैंसाकुंड पर अंतिम संस्कार किया गया। गमगीन माहौल में उनके पुत्र ईशान ने मुखाग्नि दी। इस अवसर पर शहर के तमाम साहित्यकार, पत्रकार और रंगकर्मी मौजूद रहे।

दिल का दौरा पड़ने से सुशील सिद्धार्थ का दिल्ली में निधन हो गया था। शनिवार को उनका पार्थिव शरीर पुरनिया स्थित उनके घर लाया गया था। गमगीन माहौल में रविवार को सुबह साढ़े नौ बजे घर से उनका पार्थिव शरीर गोमती किनारे बैकुंठ धाम ले जाया गया। जहां उनके बेटे ईशान ने मुखाग्नि दी।

इस अवसर पर शैलेंद्र सागर, वीरेंद्र यादव, अखिलेश, महेंद्र भीष्म, राजू पाण्डेय, दयाशंकर राय, राकेश, दयानंद पाण्डेय, अनूप श्रीवास्तव, पंकज प्रसून, अनूपमणि त्रिपाठी, प्रो. पवन अग्रवाल, अनुराग आग्नेय, केके वत्स, सहित तमाम साहित्यकार, कलाकार और पत्रकार मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Author Sushil Siddhartha's body merge into Panchatatv